ज्यादा सोचने से प्रॉब्लम सॉल्व नहीं होगी, दिमाग को शांति भी दें

Views : 1627  |  0 minutes read

जब भी हम जीवन में किसी समस्या का सामना करते हैं, तो हमारी जिंदगी यकायक बदल जाती है। हम दिन रात बस उसी समस्या के बारे में साचते हैं। यूं भी कह सकते हैं कि हम समस्या के साथ ही जीने लगते हैं। चाहे खाना खा रहे हों, कोई काम कर रहे हों या फिर सो रहे हों, हमेशा हमारे दिमाग में एक विश्लेषण चलता रहता है, लेकिन इस बीच हम यह भूल जाते हैं कि जीवन में और भी कुछ है।

जिंदगी सिर्फ एक समस्या तक ही सीमित नहीं है। दरअसल किसी भी विषय या समस्या पर सोचना अच्छी बात है लेकिन सिर्फ उसे लेकर बैठ जाना गलत है। अक्सर हम लोग समस्या पर इतना सोच लेते हैं कि दिमाग कुछ और सोच ही नहीं पाता। ऐसे में समाधान मिलने की बजाय समस्या खींचती चली जाती है।

जब भी आप जीवन में किसी भी छोटी बड़ी समस्या का सामना करें तो कोशिश करें कि आप उस पर एक हद तक ही विचार करें। जहां तक हो सके ​दूसरी बातों पर फोकस करने की कोशिश करें। इससे ना सिर्फ आपका ध्यान दूसरी चीजों पर लगेगा बल्कि आपके दिमाग को भी कुछ समय के लिए रेस्ट मिलेगा। जब आप ब्रेक देकर वापस से समस्या का विश्लेषण करेंगे तो आपको विभिन्न समाधान नज़र आने लगेंगे।

जब हम एक ही बात पर ज्यादा देर सोचते रहते हैं तो हमें जो सामने है वह भी सही ढ़ंग से नज़र नहीं आता। इसके अलावा ज्यादा देर एक ही बात को सोचते रहने से हमारे दिमाग में नकारात्मक विचार भी आने लगते हैं। इससे कई बार सही निर्णय लेने की बजाय हम गलत दिशा में चले जाते हैं। यह मानकर चलें कि किसी भी बात पर लम्बे समय तक सोचते रहना सिर्फ समस्या को बढ़ाता है। जिंदगी में कुछ पल सुकून के भी जरूरी हैं।

COMMENT