पश्चिम बंगाल: जॉयपुर सीट से टीएमसी उम्मीदवार उज्जवल कुमार का रद्द हुआ नामांकन

Views : 2147  |  3 minutes read
Nomination-Canceled-TMC-Joypur

पश्चिम बंगाल में जल्द होने जा रहे विधानसभा चुनाव के लिए पहले चरण की नामांकन प्रक्रिया हाल में शुरू हो चुकी है। वहीं, इसी बीच अब खबर है कि एक तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) उम्मीदवार का नामांकन रद्द हो गया है। जानकारी के अनुसार, चुनाव आयोग ने गुरुवार को जॉयपुर विधानसभा से टीएमसी के उम्मीदवार उज्ज्वल कुमार का नामांकन रद्द कर दिया। उज्जवल कुमार का नामांकन निर्वाचन आयोग द्वारा क्यों खारिज किया गया है, अभी इस बारे में ज्यादा जानकारी सामने नहीं आई है। आपको बता दें कि यहां से भाजपा ने नरहरि महतो को टिकट दिया है, जो एक पूर्व फॉरवर्ड ब्लॉक सांसद हैं और हाल ही में पार्टी में शामिल हुए हैं।

पहले चरण में 27 मार्च को होगा मतदान

पश्चिम बंगाल में आठ चरणों में चुनाव होने जा रहे हैं। पहले चरण में राज्य के पांच जिलों की 30 विधानसभा सीटों पर 27 मार्च को, दूसरे चरण में चार जिलों की 30 विधानसभा सीटों पर एक अप्रैल, तीसरे चरण में 31 विधानसभा सीटों पर छह अप्रैल, चौथे चरण में पांच जिलों की 44 सीटों पर 10 अप्रैल, पांचवें चरण में छह जिलों की 45 सीटों पर 17 अप्रैल, छठे चरण में चार जिलों की 43 सीटों पर 22 अप्रैल, सातवें चरण में पांच जिलों की 36 सीटों पर 26 अप्रैल और 8वें चरण में चार जिलों की 35 सीटों पर 29 अप्रैल को मतदान होंगे।

इस बार टीएमसी से सीधे मुकाबले में है भाजपा

गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल राज्य में वर्तमान विधानसभा का कार्यकाल 30 मई, 2021 को पूरा हो रहा है। राज्य में राजनीतिक हिंसा के बीच इस बार सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी के बीच सीधा चुनावी मुकाबला है। पिछले 10 सालों से बंगाल की सत्ता पर काबिज ममता सरकार को उखाड़ने के लिए भाजपा ने ऐड़ी से चोटी तक का जोर लगा रखा है। पिछले विधानसभा चुनाव में टीएमसी को 211 सीटों पर जीत हासिल हुई थी, जबकि भाजपा को महज तीन सीटों से संतोष करना पड़ा था। कांग्रेस को गत चुनाव में 44 सीटें और माकपा को 26 सीटें मिली थी।

बंगाल में इस बार टीएमसी और भाजपा के बीच कांटे की टक्कर मानी जा रही है। कांग्रेस-वाम गठबंधन से किसी चमत्कार की उम्मीद बहुत ही कम है। साल 2019 में हुए लोकसभा चुनाव में पश्चिम बंगाल की कुल 42 लोकसभा सीटों में से टीएमसी को 22 तो भाजपा को 18 सीटों पर जीत मिली थी। वहीं, कांग्रेस और वाम दलों के खाते में क्रमश: दो और एक सीट ही आ पाई थी। पांच राज्यों में हो रहे चुनाव में से इस बार पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के प्रदर्शन पर सबकी निगाहें टिकी हुई है। देखना होगा कि हाल के वर्षों में राज्य में अपने करीब 150 कार्यकर्ताओं को खो चुकी भाजपा इस चुनाव में कैसा प्रदर्शन कर पाती है।

TMC ने सभी 294 सीटों पर प्रत्याशियों की सूची जारी की, नंदीग्राम से चुनाव लड़ेगी ममता बनर्जी

COMMENT