16 मार्च को बने थे क्रिकेट में ये खास रिकॉर्ड, सचिन ने बनाया था ‘शतकों का शतक’

Views : 917  |  3 Minute read
sachin

आज 16 मार्च के दिन क्रिकेट प्रेमियों के लिए खास है क्योंकि इस दिन क्रिकेट के रोमांचक सफर में कई अद्भूत रिकॉर्ड दर्ज हुए थे। इस दिन भारतीय क्रिकेट प्रेमियों के लिए क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर के नाम ‘शतकों का शतक’ का रिकॉर्ड दर्ज हुआ, तो एकदिवसीय मैच में एक ओवर में छह छक्कों का रिकॉर्ड हर्शेल गिब्स के नाम रिकॉर्ड दर्ज हुआ।

वहीं टेस्ट क्रिकेट के इतिहास का सबसे तेज दोहरा शतक भी बना है, तो भारतीय क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू का एकमात्र धीमा दोहरा शतक भी आज के दिन ही बना। इसके अतिरिक्त आज का यह दिन क्रिकेट में एक दुःखद घटना के लिए भी जाना जाता है इस दिन बांग्लोदश के युवा क्रिकेटर मंजरुल इस्लाम की एक सड़क दुर्घटना में मौत हो गई थी।

तो आइए जानते हैं क्रिकेट में 16 मार्च का दिन क्यों खास है-

सचिन ने बनाया बांग्लोदश में अपने कॅरियर का 100वां शतक

16 मार्च, 2012 के दिन भारत के पूर्व कप्तान मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने अपने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट कॅरियर में 100वां शतक लगाकर इतिहास रच दिया। ऐसा करने वाले वे दुनिया के एकमात्र क्रिकेटर हैं जिन्होंने टेस्ट व एकदिवसीय मैचों में यह कारनामा सबसे पहले किया।

सचिन ने बांग्लदेश के खिलाफ मीरपुर में खेले गये एकदिवसीय मैच में 114 रन की शतकीय पारी खेलकर 100 शतकों के जादुई आंकड़े को छुआ था। यह उनके क्रिकेट कॅरियर का आखिरी शतक भी था।

सचिन ने जब नवंबर, 2013 में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहा था तब तक उनके 24 वर्षों के क्रिकेट कॅरियर में कई रिकॉर्ड दर्ज हो चुके थे। उन्होंने 463 एकदिवसीय मैचों में 49 शतक लगाकर 18,426 रन बनाए है, वहीं 200 टेस्ट मैचों में 51 शतकों की मदद से 15921 रन बनाए हैं।

ये भी पढ़े — विराट इस मामले में दुनिया के टॉप-10 खिलाड़ियों में, कमाई में धोनी से हैं पीछे

दुनिया में सबसे तेज दोहरा शतक लगाया नाथन एस्टल ने

क्रिकेट में टेस्ट धीमा खेल है पर कई बार खिलाड़ी अपनी लय में हो तो उसमें रोमांच पैदा कर देता है, ऐसा ही किया न्यूजीलैण्ड के बल्लेबाज नाथन एस्टल ने जिन्होंने 2002 में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट मैच में सबसे तेज दोहरा शतक लगाया।


आज ही के दिन 2002 में न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च टेस्ट में 550 रन का असंभव लक्ष्य का पीछा करते हुए एस्टल ने आखिरी दिन ने 153 गेंद पर दोहरा शतक ठोक दिया। यह टेस्ट इतिहास का सबसे तेज दोहरा शतक है। वे जब आखिरी विकेट के रूप में आउट हुए तो न्यूजीलैंड का स्कोर 451 रन पहुंच चुका था।

सिद्धू ने लगाया दूसरा सबसे धीमा दोहरा शतक

भारतीय क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू के नाम टेस्ट क्रिकेट का दूसरा सबसे धीमा दोहरा शतक लगाया।

क्रिकेट प्रेमियों को यह स्मरण रहे कि सिद्धू ने अपने टेस्ट कॅरियर में एकमात्र दोहरा शतक 201 रन 16 मार्च के दिन ही लगाया। उन्होंने यह दोहरा शतक वेस्टइंडीज के खिलाफ त्रिनिदाद में लगाया था। 200 रन तक पहुंचने के लिए उन्होंने क्रीज पर 673 मिनट तक बल्लेबाजी की थी। यह टेस्ट में उस वक्त दूसरा सबसे धीमा शतक था। अब यह इस लिस्ट में तीसरे नंबर पर पहुंच चुका है।

दक्षिण अफ्रीका के गिब्स ने एक ओवर में लगाए 6 छक्के

दक्षिण अफ्रीका के ओपनर बल्लेबाज हर्शेल गिब्स ने 2007 में आज ही के दिन एक ओवर में छह छक्के लगाने का कारनामा कर अपनी बल्लेबाजी के जलवे बिखरे थे। उन्होंने यह कारनामा वेस्टइंडीज में हुए आईसीसी वनडे विश्व कप के दौरान नीदरलैण्ड टीम के खिलाफ किया था। गिब्स ने अपना शिकार लेग स्पिनर डेन वान बुंगे को बनाया और लगातार छह गेंदों पर छह छक्के उड़ाए।

यह वनडे क्रिकेट में पहला ऐसा मौका था जब किसी ने एक ओवर में छह छक्के जमाए। आज तक कोई भी गिब्स की बराबरी नहीं कर सका है, पर टी-20 विश्व कप में युवराज सिंह ने भी 6 गेंदों पर 6 छक्के लगाने का कारनामा कर चुके हैं।

बांग्लादेश के उभरते हुए क्रिकेटर की महज 22 साल की उम्र में सड़क हादसे में मौत

जहां क्रिकेट में आज का दिन कई सुनहरे पलों को संजोए हैं वही यह दिन एक दुखद दुर्घटना के लिए भी क्रिकेट में याद किया जाता है। आज के दिन 2007 में बांग्लोदश के बल्लेबाज मंजरुल इस्लाम की एक सड़क हादसे में मौत हो गई थी। वे मात्र 22 साल के थे। इस प्रकार से सबसे कम उम्र में दुनिया को अलविदा कहने वाले क्रिकेट खिलाड़ी हैं। मंजरुल ने अपने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट करियर में 6 टेस्ट और 25 वनडे मैच खेले थे।

COMMENT