दुनिया की ये 6 दिग्गज कंपनियां 2040 से नहीं बनाएंगी पेट्रोल-डीजल वाली कार

Views : 629  |  3 minutes read
COP26-Summit-2021

ग्लोबल वॉर्मिंग और पर्यावरण प्रदूषण जैसी चुनौतियों से निपटने के लिए दुनिया की 6 दिग्गज कार निर्माता कंपनियों ने बड़ा फैसला लिया है। मर्सिडीज-बेंज, फोर्ड, वोल्वो जैसी बड़ी कंपनियों ने ब्रिटेन के ग्लास्गो में चल रही COP26 की बैठक में बुधवार को फैसला लिया है कि वे वर्ष 2040 से पेट्रोल-डीजल से चलने वाली कार नहीं बनाएंगी। इन बड़ी चौपहिया वाहन निर्माता कंपनियों के फैसले को ग्लोबल वार्मिंग कम करने में एक सार्थक माना जा रहा है।

31 देशों की सरकारों ने भी किया बंद करने का ऐलान

मालूम हो कि COP26 समिट में वर्ष 2040 तक पेट्रोल-डीजल से चलने वाली कारों की बिक्री धीरे-धीरे खत्म करने का प्रस्ताव रखा गया था। इस पर फोर्ड, मर्सिडीज-बेंज, जनरल मोटर्स और वोल्वो सहित कार बनाने वाली करीब 6 बड़ी कंपनियां सहमत हो गईं। इसके अलावा 31 देशों की सरकारों ने भी ऐसी कारों की बिक्री धीरे-धीरे बंद करने का ऐलान किया है। हालांकि, निसान-रेनो, टोयोटा और वोक्सवैगन जैसी कई बड़ी कार निर्माता कंपनियों ने इसे फिलहाल तो मानने से इनकार कर दिया।

ग्रीन हाउस गैसों का उत्सर्जन कम करने पर विचार की अपील

आपको बता दें कि पर्यावरण प्रदूषण को कम करने के लिए पिछले दो सप्ताह से ग्लास्गो में चल रही COP26 समिट का शुक्रवार आखिरी दिन है। इससे पहले बुध‌वार को जलवायु परिवर्तन पर नजर रखने वाली संयुक्त राष्ट्र की एजेंसी ने एक ड्राफ्ट जारी किया है, जिसमें सभी देशों से ग्रीन हाउस गैसों का उत्सर्जन कम करने के लक्ष्य पर फिर से विचार करने की अपील की गई है।

जारी किए गए दस्तावेज एग्रीमेंट की एक शुरुआती रूपरेखा है। ग्लोबल क्लाइमेट समिट के बाद करीब 200 देशों के बीच इस पर एग्रीमेंट होना है। मालूम हो कि पहले ही पृथ्वी का तापमान 1.1 डिग्री सेल्सियस ज्यादा बढ़ चुका है। वैज्ञानिकों का कहना है कि हीट वेव्स बढ़ने से जंगलों में आग लगने के मामले, बाढ़ और सूखा जैसी घटनाएं बढ़ सकती है।

यूरोपीय संघ के 27 देशों में बीस साल बाद सिर्फ इलेक्ट्रिक कारें ही चलेंगी, कड़े होंगे उत्सर्जन मानक

COMMENT