आईसीसी प्रेसीडेंट पद से शशांक मनोहर ने दिया इस्तीफा, इमरान ख्वाजा बने अंतरिम अध्यक्ष

Views : 848  |  3 minutes read
Shashank-Manohar-and-Imran-Khwaja-

विश्व क्रिकेट की सर्वोच्च संस्था इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल यानी आईसीसी के अध्यक्ष पद से शशांक मनोहर ने इस्तीफा दे दिया। शशांक ने अपना यह कार्यकाल खत्म होने के बाद बुधवार को पद से इस्तीफा दिया। वह दो वर्ष तक आईसीसी के अध्यक्ष पद पर रहे। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद् की ओर से जारी की गई एक प्रेस रिलीज़  के मुताबिक, आईसीसी के डिप्टी चेयरमैन इमरान ख्वाजा को चुनाव तक काउंसिल का अंतरिम अध्यक्ष बनाया गया है।

बीसीसीआई प्रेसीडेंट भी रह चुके हैं शशांक

पेशेवर वकील शशांक मनोहर भारत के रहने वाले हैं और दो बार भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड यानी बीसीसीआई के अध्यक्ष रह चुके हैं। 62 वर्षीय शशांक पहली बार 2008 से 2011 तक बीसीसीआई अध्यक्ष रहे और फिर अक्टूबर 2015 से मई 2016 तक दोबारा इस पद पर चुने गए थे। उनके दूसरे कार्यकाल का एक हिस्सा आईसीसी चेयरमैन पद के दौरान रहा। सामने आ रही जानकारी के अनुसार, आईसीसी अध्यक्ष शशांक मनोहर तीसरी बार दो साल का कार्यकाल विस्तार नहीं चाहते थे। शशांक मनोहर ने दो साल के दो कार्यकाल के बाद पद छोड़ दिया है। आपको बता दें कि आईसीसी के नियमों के अनुसार शशांक अभी दो और साल के लिए अपने पद पर रह सकते थे, क्योंकि अधिकतम तीन कार्यकाल तक कोई अध्यक्ष रह सकता है।

सौरव गांगुली समेत कई हैं आईसीसी प्रेसीडेंट पद के दावेदार

इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड के प्रमुख कोलिन ग्रावेस आईसीसी के अगले अध्यक्ष हो सकते हैं। इंग्लैंड, न्यूजीलैंड, ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज ग्रावेस की दावेदारी के पक्ष में है। कोलिन ग्रेव्स के अलावा बीसीसीआई के वर्तमान अध्यक्ष और भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली आईसीसी चेयरमैन पद के मुख्य दावेदार हैं। गांगुली की दावेदारी हालांकि इस बात पर निर्भर करती है सुप्रीम कोर्ट उन्हें लोढा समिति के प्रशासनिक सुधारवादी कदमों के तहत अनिवार्य ब्रेक में छूट देकर बीसीसीआई अध्यक्ष पद पर बने रहने का मौका देता है या नहीं।

Read More: ईसीबी ने एक अगस्त से काउंटी क्रिकेट सत्र शुरू करने की घोषणा की

इनके अलावा क्रिकेट वेस्टइंडीज के पूर्व प्रमुख डेव कैमरन, न्यूजीलैंड के ग्रेगोर बार्कले, क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका के क्रिस नेनजानी भी आईसीसी अध्यक्ष पद को लेकर अपनी रुचि दिखा चुके हैं। आपको बता दें, मौजूदा संविधान के अनुसार सौरव गांगुली राज्य और बीसीसीआई में पदाधिकारी के तौर पर छह साल का कार्यकाल 31 जुलाई को खत्म हो रहा है और वे आईसीसी चेयरमैन पद के लिए दावेदारी पेश करने के लिए पात्र उम्मीदवार हैं।

COMMENT