गुजरात के भरूच से भाजपा सांसद मनसुख वसावा ने पार्टी से दिया इस्तीफा

Views : 2389  |  3 minutes read
Mansukh-Vasava-Resigns

गुजरात में भाजपा को बड़ा झटका लगा है। छह बार लोकसभा पहुंचने वाले भरूच सीट से सांसद मनसुख वसावा ने भाजपा से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने कहा है कि वह जल्द ही संसद की सदस्यता से भी इस्तीफा देने जा रहे हैं। सांसद मनसुख वसावा ने 28 दिसंबर को गुजरात के भाजपा अध्यक्ष सी आर पाटिल को पत्र लिखकर अपने इस निर्णय से अवगत कराया। मिली जानकारी के अनुसार, लगातार पार्टी में हो रही उपेक्षा से नाराज होकर वसावा ने इस्तीफा दिया है। बता दें कि मनसुख वसावा छह बार लोकसभा सदस्य चुने गए हैं। वह पिछले मोदी सरकार में राज्य मंत्री भी रहे थे।

लोकसभा सत्र शुरू होने से पहले पद से भी देंगे इस्तीफा

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष को लिखे पत्र में उन्होंने कहा है कि वह पार्टी के साथ वफादारी से जुड़े रहे। पार्टी और जिंदगी के सिद्धांतों का बहुत ही सावधानी से पालन किया, लेकिन एक इंसान होने के नाते मुझसे गलती हो गई। इसलिए मैं पार्टी से इस्तीफा दे रहा हूं। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि वह लोकसभा सत्र शुरू होने से पहले सांसद पद से भी इस्तीफा दे देंगे।

गौरतलब है कि इससे पहले उन्होंने राज्य में होने वाली आदिवासी महिलाओं की तस्करी की जानकारी सूबे के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी को दी थी। इसके अलावा स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के मुद्दे पर वसावा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा।  पीएम को लिखे अपने पत्र में मनसुख वसावा ने स्टैच्यू ऑफ यूनिटी के आस-पास इको-सेंसिटिव जोन रद्द करने की मांग की थी। दरअसल, इस इलाके में रहने वाले आदिवासी लोगों ने इस संबंध में मांग की थी, जिसके बाद उन्होंने पीएम को पत्र लिखा था। बता दें कि मनसुख वसावा खुद एक आदिवासी नेता के तौर पर जाने जाते हैं।

COMMENT