SBI ने दिया अपने ग्राहकों को सस्ते लोन का तोहफा, जानिए कितना सस्ता हुआ लोन

3 read

अगर आप स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) के ग्राहक हैं तो आज 10 जुलाई का दिन आपके लिए खुशखबरी लेकर आया है क्योंकि आज से होम या ऑटो लोन लेना सस्ता हो गया है। इससे एसबीआई के 40 करोड़ से ज्यादा ग्राहकों को फायदा होगा।

हाल में आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने बैंकों से कहा था कि वह रेपो रेट कटौती का लाभ अपने ग्राहकों तक पहुंचाएं। उसका नतीजा है कि देश के सबसे बड़े सार्वजनिक क्षेत्र का बैंक एसबीआई ने MCLR में 5 अंकों की कटौती की है। बैंक की इस कटौती के बाद होम लोन, कार लोन और अन्य सभी लोन सस्ते हो गए हैं। बैंक ने सभी टेनर्स के लोन के लिए ब्याज दर में कटौती की है। एसबीआई की इस कटौती के बाद एक वर्ष के लिए लोन पर ब्याज दर 8.45 प्रतिशत प्रतिवर्ष से घटकर 8.40 प्रतिशत प्रतिवर्ष रह गई है।

एसबीआई ने करीब चार महीने के भीतर ऐसा तीसरी बार किया है जब ब्याज दरों में कटौती का लाभ अपने ग्राहकों को पहुंचाया है। इससे पहले बैंक ने अप्रैल और मई में ब्याज दर में 0.05-0.05 फीसदी कटौती की थी जिससे होम लोन पर ब्याज दर में 0.10 फीसदी की कमी आई।

बता दें कि एसबीआई ने ब्याज दरों में कटौती का यह फैसला आरबीआई गवर्नर के कहने के बाद लिया है। गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा था कि रेपो दर में एक के बाद एक तीन बार में 0.75 फीसदी कटौती की जा चुकी है अत: बैंकों द्वारा इसका लाभ ग्राहकों तक जल्द पहुंचाया जाना चाहिए और उन्हें बैकों से इसकी उम्मीद है।

शक्‍तिकांत दास के गवर्नर पद संभालने के बाद से आरबीआई लगातार तीन बार रेपो रेट में कटौती कर चुका है। इसके बावजूद बैंकों ने कटौती के अनुसार अपने ग्राहकों को ब्‍याज दर में छूट नहीं दी है।

COMMENT

Chaltapurza.com, एक ऐसा न्यूज़ पोर्टल जो सबसे पहले, सबसे सटीक की भागमभाग के बीच कुछ अलग पढ़ने का चस्का रखने वालों का पूरा खयाल रखता है। हम देश-विदेश से लेकर राजनीतिक हलचल, कारोबार से लेकर हर खेल तो लाइफस्टाइल, सेहत, रिश्ते, रोचक इतिहास, टेक ज्ञान की सभी हटके खबरों पर पैनी नजर रखने की कोशिश करते हैं। इसके साथ ही आपसे जुड़ी हर बात पर हमारी “चलता ओपिनियन” है तो जिंदगी की कशमकश को समझने के लिए ‘लव यू जिंदगी’ भी कुछ अलग है। हमारी टीम का उद्देश्य आप तक अच्छी और सही खबरें पहुंचाना है। सबसे अच्छी बात यह है कि हमारे इस प्रयास को निरंतर आप लोगों का प्यार मिल रहा है…।

Copyright © 2018 Chalta Purza, All rights Reserved.