कांग्रेस महिला इकाई की अध्यक्ष सुष्मिता देव पार्टी से इस्तीफा देकर टीएमसी में शामिल

Views : 1192  |  3 minutes read
Sushmita-Dev-Resigns

पिछले कुछ वर्षों में कांग्रेस के कई नामी नेता पार्टी छोड़कर दूसरे राजनीतिक दलों में शामिल हो चुके हैं। यह सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा है। अब एक बड़ी महिला नेत्री ने पार्टी को बड़ा झटका दिया है। पूर्व सांसद व ऑल इंडिया महिला कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सुष्मिता देव पार्टी से इस्तीफा देकर तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) में शामिल हो गई हैं। उन्हें टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी व डेरेक ओ ब्रायन ने पार्टी की सदस्यता दिलाई। बता दें, सुष्मिता देव ने सोमवार को ही कांग्रेस से अपना इस्तीफा दिया था। उन्होंने अपने इस्तीफे की जानकारी कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र के माध्यम से दी थी।

साल 2014 के लोकसभा चुनाव में चुनी गई थी सांसद

गौरतलब है कि सुष्मिता देव साल 2014 के लोकसभा चुनाव में असम की सिल्चर संसदीय सीट से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ी, जिसमें उनको जीत मिली थी। वह लोकसभा चुनाव जीतकर पहली बार सांसद पहुंची थीं। इसके बाद उन्हें ऑल इंडिया महिला कांग्रेस का कार्यभार भी दिया गया था। लेकिन हाल में हुए असम विधानसभा चुनाव में पार्टी को मिली करारी हार के बाद सुष्मिता देव का इस्तीफा कांग्रेस के लिए एक और बड़ा झटका है। सुष्मिता 2011 से मई 2014 तक सिलचर विधायक भी रहीं।

इस्तीफे से पहले वाट्सएप ग्रुप छोड़ा, ट्विटर बायो में बदलाव

ऑल इंडिया महिला कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा और पार्टी की सदस्यता छोड़ने से पहले सुष्मिता देव ने कांग्रेस पार्टी का वाट्सएप ग्रुप भी छोड़ दिया था। वहीं, उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट से अपना बायो भी हटा लिया। सुष्मिता ने खुद को बायो में कांग्रेस पार्टी का पूर्व नेता बताया है। मालूम हो कि यह कदम सुष्मिता देव ने तब उठाया, जब ट्विटर ने उनके अकाउंट को निलंबित कर दिया है। सुष्मिता भी उन नेताओं में से एक हैं, जिनका ट्विटर अकाउंट कांग्रेस नेता राहुल गांधी के साथ निलंबित किया गया है।

सुष्मिता के इस्तीफे के सवाल पर भड़के संगठन महासचिव

कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल से जब पार्टी की पूर्व नेत्री सुष्मिता देव के तृणमूल कांग्रेस में शामिल होने को लेकर मीडिया ने सवाल पूछा, तो वे भड़क गए। उन्होंने मीडिया से कहा कि आप इस बारे में बात कर रहे हैं, लेकिन हम मजबूत दल हैं। कोई पार्टी छोड़कर जा रहा है या आ रहा है यह कांग्रेस के लिए कोई मुद्दा नहीं है।

Read Also: कांग्रेस को मणिपुर में लगा बड़ा झटका, पार्टी प्रदेश अध्यक्ष ने पद से दिया इस्तीफा

COMMENT