लॉर्ड्स टेस्ट में भारत ने मेजबान इंग्लैंड को 151 रनों से हराकर सीरीज में बढ़त बनाई

Views : 1821  |  3 minutes read
Lord's-Test-Result

टीम इंडिया ने मेजबान इंग्लैंड को लंदन के प्रसिद्ध लॉर्ड्स मैदान पर खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में अंतिम दिन हराकर सीरीज में 1-0 की अहम बढ़त बना ली है। निचले क्रम के बल्लेबाज मोहम्मद शमी अविजित 56 रन और जसप्रीत बुमराह नाबाद 34 ने नौवें विकेट के लिए 89 रन की अटूट साझेदारी और तेज गेंदबाजों के जबरदस्त प्रदर्शन से भारत ने इंग्लैंड को दूसरे टेस्ट में 151 रन से हरा दिया। भारत के तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज (32/4), जसप्रीत बुमराह (33/3) और इशांत शर्मा (13/2) की घातक गेंदबाजी के आगे इंग्लिश टीम ने घुटने टेक दिए।

टीम इंडिया ने अपनी दूसरी पारी 8 विकेट पर 298 रन बनाकर घोषित कर दी थी। इंग्लैंड को 60 ओवरों में 272 रन लक्ष्य दिया था, लेकिन मेजबान टीम 51.5 ओवरों में 120 पर ही ढेर हो गई। सिराज ने जैसे ही जेम्स एंडरसन को आखिरी विकेट के रूप में बोल्ड किया, टीम इंडिया खुशी से झूम उठी।

भारतीय तेज गेंदबाजों ने जीत की राह आसान की

आपको बता दें कि मेजबान इंग्लैंड को दोनों पारियों में भारतीय तेज गेंदबाजों ने आउट कर भारत को लॉर्ड्स के मैदान पर तीसरी टेस्ट जीत दिलाई। भारतीय तेज गेंदबाजों ने मैच में 19 विकेट अपने नाम किए। पहली पारी में इंग्लैंड के मार्क वुड रनआउट हुए थे। टेस्ट के पांचवें व अंतिम दिन 272 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड टीम की शुरुआत ही खराब हुई, जब एक रन पर ही उसने अपने दो विकेट गंवा दिए थे।

इंग्लैंड के ओपनर रोरी बर्न्स को जसप्रीत बुमराह ने तीसरी ही गेंद पर सिराज के हाथों कैच करा दिया, जबकि डॉम सिब्ली को मोहम्मद शमी ने विकेट के पीछे कैच कराकर पवेलियन भेजा। ये दोनों ही बल्लेबाज खाता भी नहीं खोल सके। इसके बाद हसीब 09 रन, कप्तान जोए रूट 33 रन और जॉनी बेयरस्टो 02 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। इंग्लैंड की दूसरी पारी में जोस बटलर ने कुछ हद तक संघर्ष किया, लेकिन 8वें विकेट पर ओली के आउट होने के बाद पारी सिमटने में समय नहीं लगा।

पहली पारी में पिछड़कर भी इंग्लैंड को दी मात

टीम इंडिया ने पांचवें दिन सुबह छह विकेट पर 181 रन से आगे खेलना शुरू किया। शमी और बुमराह ने भारतीय टीम के लिए तब जिम्मेदारी भरी पारी खेली, जब भारत आठ विकेट पर 209 रन बनाकर मेजबान के खिलाफ 200 रन की बढ़त हासिल करने की स्थिति में भी नहीं दिख रहा था। इन दोनों ने इंग्लैंड के तेज गेंदबाजों और स्पिनरों का धैर्य से सामना किया और अपनी टीम को अहम बढ़त दिलाई। बता दें कि भारत ने अपनी पहली पारी में 364 रन बनाए थे। वहीं, इंग्लैंड ने 391 रन बनाकर 27 रन की बढ़त हासिल की थी। टीम इंडिया के लिए दूसरी पारी में अजिंक्य रहाणे ने सर्वाधिक 61 रन की पारी खेली। इंग्लिश टीम के लिए मार्क वुड ने तीन, जबकि ओली रॉबिन्सन और मोईन अली ने दो-दो विकेट लिए।

देश के बाहर नौवें विकेट के लिए रिकॉर्ड साझेदारी

मोहम्मद शमी और जसप्रीत बुमराह की नौवें विकेट के लिए 89 रन की नाबाद साझेदारी टीम इंडिया की विदेश में सबसे बड़ी साझेदारी है। इससे पहले किरण मोरे और वेंकटपति राजू ने मेलबर्न मैदान में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वर्ष 1991 में 77 रन जोड़े थे। वहीं, इंग्लैंड में पिछली रिकॉर्ड साझेदारी की बात करें तो वर्ष 1982 में कपिल देव और मदनलाल ने 66 रन की साझेदारी की थी। ओवरऑल यह टीम इंडिया की नौवें विकेट के लिए दूसरी सबसे बड़ी साझेदारी है। नाना जोशी और रमाकांत देसाई ने मुंबई के ब्रेबोर्न स्टेडियम में पाकिस्तान के खिलाफ वर्ष 1960 में 149 रन की पार्टनरशिप की थी।

Read Also: जोंटी रोड्स को सिडनी में ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ खेले गए मैच ने बना दिया था स्टार

COMMENT