खेल मंत्रालय की गाइडलाइन के अनुसार प्रैक्टिस कर सकेंगे खिलाड़ी, सबसे पहले इन खेलों की ट्रेनिंग शुरू होगी

Views : 737  |  3 minutes read
Lock-Down-4.0-Guidelines-For-Sport

कोरोना वायरस महामारी के कारण देश में लगातार चौथी बार लॉकडाउन की घोषणा की गई है। इसे बढ़ाकर अब 31 मई तक कर दिया गया है। इस बार लॉकडाउन-4 में खेल जगत से जुड़े लोगों के लिए अच्छी ख़बर आई है। गृह मंत्रालय ने अपनी नई गाइडलाइन में स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स और स्टेडियम खोलने की अनुमति दे दी है। हालांकि, दर्शकों की एंट्री पर पहले की तरह ही प्रतिबंध रहेगा। इसका सीधा फायदा सभी खिलाड़ियों को मिलेगा, जो लॉकडाउन के कारण पिछले करीब दो माह से प्रैक्टिस नहीं कर पा रहे थे।

पहले एथलेटिक्स और वेटलिफ्टिंग की प्रैक्टिस शुरू होगी

भारत के सबसे बड़े खेल सेंटर एनआईएस पटियाला के ईडी कर्नल राज बिश्नोई ने बताया, ‘अभी खेल मंत्रालय की ओर से कोई गाइडलाइन नहीं आई है, जैसे ही गाइडलाइन आ जाएगी उस पर अमल किया जाएगा। इसके अनुरूप ही खिलाड़ियों की प्रैक्टिस शुरू की जाएगी। हमारी तरफ से तैयारी पूरी है।’ जानकारी के अनुसार, सबसे पहले एथलेटिक्स, बॉक्सिंग और वेटलिफ्टिंग की प्रैक्टिस शुरू हो सकती है। वहीं, हॉकी टीमें बेंगलुरू के साई सेंटर में हैं। ऐसे में वहां भी प्रैक्टिस शुरू की जा सकती है।

Read More: 9 हफ्ते परिवार से दूर रहने वाले खिलाड़ियों को ही मिलेगी इंग्लैंड टीम में जगह

ओलिंपिक क्वालिफायर खिलाड़ी करेंगे ट्रेनिंग

हाल में केंद्रीय खेल किरेन रिजिजू ने कहा था कि ओलिंपिक क्वालिफाई कर चुके खिलाड़ी और जो क्वालिफाई करने की रेस में हैं, उनकी ट्रेनिंग मई के अंत में एनआईएस और बेंगलुरू में शुरू हो सकती है। वहीं, भारतीय ओलिंपिक संघ (आईओए) के कोषाध्यक्ष डॉ आनंदेश्वर पांडे ने कहा कि अभी कॉम्पिटीशन ज्यादा नहीं है। इसलिए स्टेडियम फिलहाल सिर्फ प्रैक्टिस के लिए ही खुलेंगे। हमने सभी फेडरेशन और कोच को जानकारी दे दी है कि किस तरह से सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखते हुए प्रैक्टिस करनी है। जानकारी के अनुसार, शुरुआत में इंटरनेशनल इवेंट की तैयारी कर रहे खिलाड़ियों को प्राथमिकता दी जाएगी।

COMMENT