प्रणब मुखर्जी समेत 3 हस्तियां ‘भारत रत्न’ से सम्मानित, जानें अब तक कितने को मिल चुका है यह सम्मान

04 read
chaltapurza.com

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को आज गुरुवार को देश के सर्वोच्च नागरिक अवॉर्ड ‘भारत रत्न’ से सम्मानित किया गया। उनके साथ ही राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विचारक नानाजी देशमुख और गायक भूपेन हजारिका को भी मरणोपरांत यह सम्मान दिया गया है। राष्ट्रपति भवन प्रांगण में प्रेसिडेंट रामनाथ कोविंद भारत रत्न सम्मान प्रदान किया। गौरलतब है कि प्रणब मुखर्जी यह सर्वोच्च नागरिक सम्मान पाने वाले देश के पांचवें राष्ट्रपति हैं। इससे पहले पूर्व राष्ट्रपति डॉ. एस राधाकृष्णन, डॉ. राजेंद्र प्रसाद, डॉ. जाकिर हुसैन और वीवी गिरि को भारत रत्न सम्मान मिल चुका है। आइए हम आपको बताते हैं अब तक कितने लोगों को यह अवॉर्ड दिया गया है..

chaltapurza.com

20 साल बाद दो से ज्यादा हस्तियों को मिला भारत रत्न

करीब 20 साल बाद दो से ज्यादा हस्तियों को भारत रत्न अवॉर्ड से सम्मानित किया गया है। इससे पहले वर्ष 1999 में समाजवादी नेता जयप्रकाश नारायण, सितारवादक पंडित रविशंकर, अर्थशास्त्री डॉ. अमर्त्य सेन और स्वतंत्रता सेनानी रहे गोपीनाथ बोरदोलोई को यह अवॉर्ड दिया गया था। इस बार चार साल बाद भारत रत्न दिया गया। इससे पहले वर्ष 2015 में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और स्वतंत्रता सेनानी और बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी के संस्थापक मदन मोहन मालवीय को भारत रत्न से सम्मानित किया था। वर्ष 2019 से पहले 45 हस्तियों को भारत रत्न सम्मान दिया जा चुका है। अब यह संख्या 48 हो गई है। यानि आज़ादी के बाद से अब तक कुल 48 लोगों को देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान से सम्मानित किया जा चुका है।

chaltapurza.com

कांग्रेस के दिग्गज नेता रहे हैं पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी

भारत के पूर्व राष्ट्रपति और कांग्रेस के दिग्गज नेता रहे प्रणब मुखर्जी का जन्म 11 दिसम्बर, 1935 को पश्चिम बंगाल के मिराती में हुआ था। वर्ष 1969 में तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने उन्हें राज्यसभा पहुंचाया था। इसके बाद साल 1982 में उन्हें कैबिनेट में वित्त मंत्री नियुक्त किया गया। वर्ष 1984 में राजीव गांधी से मतभेदों के बाद उन्होंने एक नई राष्ट्रीय समाजवादी कांग्रेस पार्टी का गठन किया। हालांकि, साल 1989 में इस पार्टी विलय कांग्रेस में हो गया था। इसके बाद पीवी नरसिम्हा राव की सरकार में उन्हें वर्ष 1991 में योजना आयोग का प्रमुख और 1995 में विदेश मंत्री का कार्यभार दिया गया।

Read More: जम्‍मू-कश्‍मीर से धारा 370 हटने के बाद अब से कुछ देर में पहला संबोधन देंगे पीएम मोदी

वर्ष 2004 की यूपीए सरकार में प्रणब मुखर्जी ने पहली बार लोकसभा चुनाव जीता था। वर्ष 2004 से 2006 तक उन्होंने रक्षा मंत्रालय की जिम्मेदारी दी गईं। इसके बाद वर्ष 2006-09 तक विदेश मंत्रालय और साल 2009-12 तक उन्हें वित्त मंत्रालय की जिम्मेदारी मिलीं। वर्ष 2012 में कांग्रेस ने उन्हें राष्ट्रपति पद के लिए नामित किया। प्रणब मुखर्जी वर्ष 2012 से 2017 तक देश के राष्ट्रपति रहे।

chaltapurza.com
तिलक से प्रभावित थे नानाजी, भारतीय संगीत में भूपेन का रहा बड़ा योगदान

मरणोपरांत भारत रत्न से सम्मानित किए गए नानाजी देशमुख स्वतंत्रता सेनानी बाल गंगाधर तिलक की राष्ट्रवादी विचारधारा से प्रभावित होकर समाज सेवा के क्षेत्र में आए थे। भारत रत्न से सम्मानित किए गए तीसरे शख़्स भूपेन हजारिका गायक, गीतकार और संगीतकार थे। वर्ष 1936 में उन्होंने अपना पहला गाना रिकॉर्ड किया था। भूपेन ने 13 साल की उम्र में अपना पहला गाना ‘अग्निजुगोर फिरिंगोति’ लिखा था। हिंदी फिल्म ‘रुदाली’ और ‘दमन’ के लिए गाए उनके गीत बेहद लोकप्रिय हुए। भारत रत्न से पहले भूपेन हजारिका को वर्ष 1977 में ‘पद्मश्री, 2001 में पद्मभूषण, 2012 में पद्म विभूषण’ (मरणोपरांत) अवॉर्ड से सम्मानित किया जा चुका था।

COMMENT

Chaltapurza.com, एक ऐसा न्यूज़ पोर्टल जो सबसे पहले, सबसे सटीक की भागमभाग के बीच कुछ अलग पढ़ने का चस्का रखने वालों का पूरा खयाल रखता है। हम देश-विदेश से लेकर राजनीतिक हलचल, कारोबार से लेकर हर खेल तो लाइफस्टाइल, सेहत, रिश्ते, रोचक इतिहास, टेक ज्ञान की सभी हटके खबरों पर पैनी नजर रखने की कोशिश करते हैं। इसके साथ ही आपसे जुड़ी हर बात पर हमारी “चलता ओपिनियन” है तो जिंदगी की कशमकश को समझने के लिए ‘लव यू जिंदगी’ भी कुछ अलग है। हमारी टीम का उद्देश्य आप तक अच्छी और सही खबरें पहुंचाना है। सबसे अच्छी बात यह है कि हमारे इस प्रयास को निरंतर आप लोगों का प्यार मिल रहा है…।

Copyright © 2018 Chalta Purza, All rights Reserved.