इमोशनल फूल हैं तो संभल जाइए, जिंदगी में परेशानी का है बड़ा कारण

Views : 2211  |  0 minutes read

क्या आप बहुत ज्यादा इमोशनल हैं? हर छोटी बात को दिल से लगा लेते हैं? जरा सी बात पर आंसू निकल आते हैं? जल्दी ही आपको कोई बात चुभ जाती है? छोटी सी बात को लेकर लम्बे समय तक परेशान रहते हैं? यदि इन सबके जवाब हां में हैं तो आप इमोशनल फूल की कैटेगरी में हैं। आप ऐसे शख्स हैं जिन पर इमोशंस हावी रहते हैं। आपका परिस्थितियों पर कंट्रोल नहीं रहता और आप खुद को हर ​स्थिति में बेबस मानने लगते हैं।

दरअसल जिंदगी में इमोशंस की एक खास जगह होती है या यूं कहें कि जिंदगी का हर रिश्ता इमोशंस से ही जुड़ा रहता है। भावनाएं ही हमें एक दूसरे के करीब रखती है और जिंदगी को जीने का मकसद देती है। लेकिन कहते हैं ना अति हर चीज की बुरी होती है। इमोशंस पर भी यह बात बिलकुल फिट बैठती है। इमोशंस जब संतुलित होते हैं तो रिश्तों में प्यार बना रहता है लेकिन जब हम हद से ज्यादा इमोशनल हो जाते हैं तो इसके कई साइड इफेक्ट होने लगते हैं। आप हर जगह सिर्फ इमोशन जोड़ने लगते हैं और इस कारण प्रैक्टीकली सोचना छोड़ देते हैं। आप एक अलग आभासी दुनिया में जीने लगते हैं। इस कारण आप किसी भी बात को सही तरह से समझ नहीं पाते हैं, नतीजन आपको हर किसी से प्रॉब्लम होने लगती है।

यह स्वभाव आपको बेवकूफों की श्रेणी में लाकर भी खड़ा कर देता है। कई बार लोग आपके इस स्वभाव का फायदा भी उठा लेते हैं। हर विषय में इमोशंस को नहीं जोड़ा जा सकता। इमोशनल होना आपका एक हथियार है, जिसके जरिए आप कई बातों को बेहतरी से समझ सकते हैं लेकिन इमोशनल फूल होना आपके लिए खतरा हो सकता है। इस कारण आप कई जगह मात खा सकते हैं। इमोशंस पर कंट्रोल करना सीखें और यह समझने की कोशिश करें कि इनकी जरूरत कहां है और कहां नहीं।

COMMENT