ग्लोबल वार्मिंग के विरोध में ब्रिटेन में महिलाएं बोली- दुनिया रहने लायक नहीं, बच्चे पैदा नहीं करेंगी

Views : 1171  |  0 minutes read

पर्यावरण परिवर्तन को लेकर समय-समय पर अनेक संगठनों ने अपने ही अंदाज में विरोध जताया है। ऐसे में अब ब्रिटेन की राजधानी लंदन में क्लाइमेट चेंज को लेकर एक संस्था ’बर्थस्ट्राइक’ के सदस्यों ने जमकर विरोध प्रदर्शन करते हुए बताया कि उन्होंने बच्चा पैदा नहीं करने का फैसला किया है।

ब्रिटेन में जलवायु परिवर्तन के प्रति सक्रिय संगठन ’बर्थस्ट्राइक’ के सदस्यों ने बताया कि पर्यावरण परिवर्तन के कारण धरती पर सूखा, अकाल, बाढ़ और अत्याधिक गर्मी जैसी समस्याएं तेजी से बढ़ रही हैं। ऐसे में वे नहीं चाहते कि उनके बच्चों को ऐसे वातावरण का सामना करना पड़े इसलिए हमने बच्चे पैदा न करने का फैसला किया है।

पर्यावरण के प्रति लोगों को जागरूक करने वाले इस ग्रुप की स्थापना वर्ष 2018 में 33 वर्षीय ब्लाइथे पेपीनो ने की थी। पेपीनो पेशे से संगीतकार हैं और लंदन में ही रहती हैं। उनके इस ग्रुप में कुल 450 सदस्य हैं जिसमें 80 प्रतिशत महिलाएं हैं।

पेपीनो ने कहा कि उन्होंने बच्चा पैदा न करने का फैसला पिछले साल जलवायु परिवर्तन पर संयुक्त राष्ट्र के अंतर्राष्ट्रीय पैनल की रिपोर्ट को देखकर लिया था।

ग्लोबल वार्मिंग से तेजी से पिघल रहे हैं ग्लेशियर
बढ़ता तापमान आज के समय में चिंता का विषय बनता जा रहा है। एक अध्ययन से पता चलता है कि हिमालय के ग्लेशियरों पर ग्लोबल वार्मिंग का प्रभाव काफी तेजी से पड़ रहा है, इसका आंकलन करने वाली एक टीम ने पाया है कि वर्ष 2000 से 2016 के बीच हर साल ग्लेशियरों की औसतन 800 करोड़ टन बर्फ पिघल रही है, जोकि इससे पूर्व के 25 वर्षों यानि वर्ष 1975 से 2000 तक हर साल औसतन 400 करोड़ टन तक पिघलती रही, लेकिन इसके बाद के 16 सालों में ग्लेशियरों के पिघलने की रफ्तार दोगुनी हो चुकी है।

COMMENT