केरल विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पीसी चाको ने दिया इस्तीफा, पार्टी को लगा तगड़ा झटका

Views : 2227  |  3 minutes read
PC-Chacko-Resign-Congress

केरल में जल्द ही होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को एक के बाद एक झटके लग रहे हैं। पार्टी नेता राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र वायनाड से चार पदाधिकारियों के इस्तीफे के बाद अब एक ओर बड़े नेता ने अपना इस्तीफा दे दिया है। दरसअल, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पीसी चाको ने बुधवार को पार्टी को बड़ा झटका देते हुए इस्तीफा देने की घोषणा की। कांग्रेसी नेता पीसी चाको ने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को अपना इस्तीफा भेजा है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने खुद इस्तीफा देने का ऐलान किया। उन्होंने कहा, ‘मैंने कांग्रेस छोड़ दी है और अपना इस्तीफा पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को भेज दिया है।’

केरल कांग्रेस की टीम के साथ काम करना मुश्किल: चाको

पार्टी से अपने इस्तीफे की घोषणा के बाद पीसी चाको ने कहा कि मैं पिछले कई दिनों से इस पर विचार कर रहा था। केरल विधानसभा चुनाव में लोग चाहते हैं कि कांग्रेस पार्टी जीते, लेकिन कांग्रेस में गुटबाजी के चलते यह संभव नहीं है। मैंने गुटबाजी समाप्त किए जाने को लेकर कांग्रेस हाईकमान से कई बार बात की, लेकिन पार्टी हाईकमान ने इस पर ध्यान नहीं दिया। मैंने कांग्रेस में गुटबाजी को लेकर ए और आई ग्रुप बनाने का भी प्रस्ताव दिया, लेकिन पार्टी हाईकमान इस आपदा का एक मूक गवाह बना हुआ है। चाको ने कहा कि केरल कांग्रेस की टीम के साथ काम करना मुश्किल है। इसके बाद मैंने इस्तीफा देने का फैसला लिया।

आपको बता दें कि पीसी चाको ने पार्टी से अपने इस्तीफे को लेकर ज्यादा कुछ नहीं कहा है, लेकिन माना जा रहा है कि केरल की त्रिशुर संसदीय सीट का लोकसभा में प्रतिनिधित्व करने वाले चाको पार्टी के टिकट वितरण से नाराज थे। चाको ने कहा कि कांग्रेस एक पार्टी नहीं एक महान परंपरा है। कांग्रेस का सदस्य होना सम्मान की बात है, लेकिन आज केरल में कोई भी व्यक्ति कांग्रेस का सदस्य बनना नहीं चाहता है।गौरतलब है कि पीसी चाको केरल की त्रिशूर लोकसभा सीट से सांसद रह चुके हैं।

कांग्रेस सांसद ईडन ने कहा, महत्वपूर्ण समय में गलत निर्णय

उधर, केरल की एर्नाकुलम संसदीय सीट से कांग्रेस सांसद हिबी ईडन ने कहा कि पीसी चाको एक बहुत वरिष्ठ कांग्रेस नेता हैं, जिन्हें केंद्रीय नेतृत्व द्वारा पर्याप्त अवसर दिए गए। वह कांग्रेस के लिए एक मूल्यवान संपत्ति है। मुझे नहीं लगता कि यह केरल चुनाव जैसे महत्वपूर्ण समय में एक सही निर्णय है। आपको जानकारी के लिए बता दें कि केरल की 140 सदस्यीय विधानसभा के लिए 6 अप्रैल को मतदान होगा। वहीं, इस चुनाव का नतीजा 5 राज्यों के साथ 2 मई को घोषित होगा।

Read More: राहुल गांधी के संसदीय क्षेत्र वायनाड में कांग्रेस के चार बड़े नेताओं ने दिया ​इस्तीफा

COMMENT