रिलायंस रिटेल में 9,555 करोड़ रुपये का करेगी निवेश सऊदी अरबियन कंपनी पीआईएफ

Views : 794  |  3 minutes read
PIF-Invest-in-Reliance

भारत के सबसे अमीर उद्योग​पति मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस रिटेल में विदेशी निवेशकों की रुचि बढ़ती ही जा रही है। कई विदेशी कंपनी पहले ही रिलायंस रिटेल में मोटा निवेश कर चुकी है। गुरुवार को सऊदी अरब की कंपनी पीआईएफ ने रिलायंस इंडस्ट्रीज की सहायक कंपनी रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटेड (RRVL) में 2.04 फीसदी इक्विटी के लिए 9,555 करोड़ रुपये का निवेश करने की घोषणा की है। सौदे में रिलायंस रिटेल की प्री-मनी इक्विटी को 4.587 लाख करोड़ रुपये आंका गया है।आपको जानकारी के लिए बता दें कि रिलायंस रिटेल में पिछले निवेशों की तुलना में प्री-मनी इक्विटी करीब 30 हजार करोड़ रुपये अधिक है।

रिलायंस रिटेल में सिल्वर लेक के साथ शुरू हुआ था निवेश

उल्लेखनीय है कि मुकेश अंबानी की रिलायंस रिटेल में निवेश का सिलसिला 9 सितंबर को सिल्वर लेक के साथ शुरू हुआ था। इसके बाद केकेआर, जनरल अटलांटिक, मुबाडला, जीआईसी, टीपीजी और एडीआईए जैसे वैश्विक निवेश फंड इसमें निवेश कर चुके हैं। पीआईएफ की इस डील को मिला कर अब तक नौ निवेशों के जरिए रिलायंस रिटेल में 10 फीसदी से अधिक की इक्विटी के लिए 47,265 हजार करोड़ से अधिक का निवेश हो चुका है।

भागीदार के रूप में पीआईएफ का स्वागत करता हूं: अंबानी

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी ने कहा कि सऊदी अरब के साथ लंबे समय से हमारे अच्छे संबंध हैं। पीआईएफ सऊदी के आर्थिक विकास में अहम किरदार निभा रही है। मैं रिलायंस रिटेल में एक महत्वपूर्ण भागीदार के रूप में पीआईएफ का स्वागत करता हूं। हम 130 करोड़ भारतीयों और लाखों छोटे व्यापारियों के जीवन को समृद्ध करने और रिटेल सेक्टर को बदलने की हमारी महत्वाकांक्षी योजना के लिए पीआईएफ के निरंतर समर्थन की आशा करते हैं।

Read More: नवंबर 2020 से बैंक में पैसा जमा कराने और निकालने पर देना होगा अलग से चार्ज

गौरतलब है कि रिलायंस रिटेल लिमिटेड के देशभर में 12 हजार से ज्यादा स्टोर्स हैं, जिनमें सालाना करीब 64 करोड़ खरीददार आते हैं। यह भारत का सबसे बड़ा और सबसे तेजी से विकसित होने वाला रिटेल बिजनेस माना जाता है। रिलायंस का रिटेल बिजनेस देश का सबसे लाभदायक रिटेल बिजनेस है। इसके अलावा रिलायंस समूह कई अन्य नए क्षेत्रों में भी निवेश कर रहा है।

COMMENT