कर्नाटक में 4800 करोड़ रुपये निवेश करेगी टोयोटा कंपनी, ईवी वाहनों का करेगी निर्माण

Views : 575  |  3 minutes read
Toyota-Invest-in-Karnataka

केंद्र सरकार के लगातार प्रयासों से देश में विदेशी कंपनियां निवेश में रुचि ले रही है। अब वाहन विनिर्माता कंपनी टोयोटा कर्नाटक राज्य में करीब 4800 करोड़ रुपये का निवेश करने जा रही है। यह निवेश इलेक्ट्रिक वाहनों (ईवी व्हीकल्स) में इस्तेमाल होने वाले उपकरणों के स्थानीय स्तर पर उत्पादन के लिए किया जाएगा। जानकारी के अनुसार, टोयोटा समूह की फर्म टोयोटा किर्लोस्कर मोटर (टीकेएम) और टोयोटा किर्लोस्कर ऑटो पार्ट्स (टीकेएपी) यहां 4100 करोड़ रुपये का निवेश करेंगी। वहीं, टोयोटा इंडस्ट्रीज इंजन इंडिया (टीआईईआई) राज्य में 700 करोड़ रुपये लगाने जा रही है।

निवेश से 3500 नए लोगों को मिलेगी नौकरी

आपको बता दें कि शनिवार को इस निवेश के संबंध में टोयोटा इंडिया की ओर से कर्नाटक सरकार के साथ एक एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए। टीकेएम के कार्यकारी उपाध्यक्ष विक्रम गुलाटी ने कहा, ‘टोयोटा समूह और टीआईईआई मिलकर लगभग 4800 करोड़ रुपये का निवेश करेंगी।’ उन्होंने कहा, ‘हमारा उद्देश्य कार्बन उत्सर्जन में तेजी से कमी लाना है। इसलिए यह गो ग्रीन, गो लोकल की भावना से किया जा रहा है।’ गुलाटी ने आगे कहा, ‘टीकेएम और टीकेएपी कर्नाटक में करीब 3500 नए रोजगार सृजित करेंगी।

कंपनी  8 हजार से ज्यादा लोगों को अबतक दे चुकी रोजगार

एमओयू के दौरान टीकेएम के वाइस चेयरमैन विक्रम एम. किर्लोस्कर ने कहा, ‘टोयोटा समूह की कंपनियों ने कर्नाटक राज्य में करीब 8000 लोगों को पहले ही रोजगार दिया हुआ है। टोयोटा ग्रुप की कंपनियों ने यहां करीब 12 हजार करोड़ रुपये का निवेश किया है। उन्होंने कहा, ‘टीकेएम की कारों की ब्रिकी भारत में लगातार बढ़ रही है। यहां पिछले महीने ही टोयोटा ने 15 हजार से ज्यादा कारें बेचीं। आपको बता दें कि जापानी वाहन निर्माता कंपनी टोयोटा ने करीब ढ़ाई दशक पहले भारत में किर्लोस्कर ग्रुप के साथ कारोबार शुरू किया था। भारत में इसका हेडक्वार्टर कर्नाटक के बेंगलुरु में है।

Read Also: इलेक्ट्रिक व्हीकल्स की कीमतें दो साल में पेट्रोल कारों के बराबर होंगी: नितिन गडकरी

COMMENT