नवंबर 2020 से बैंक में पैसा जमा कराने और निकालने पर देना होगा अलग से चार्ज

Views : 857  |  3 Minutes read
Banking-Extra-Charges

किसी भी बैंक में अकाउंट खुलवाने पर ग्राहक को कई सुविधाएं मिलती हैं। बैंक की इन सुविधाओं का इस्तेमाल तकरीबन हर ग्राहक करता है। लेकिन ज्यादातर ग्राहकों को इस बारे में जानकारी नहीं है कि इन बैंकिंग सुविधाओं के लिए बैंक उनसे पैसे वसूलते हैं। एसएमएस सुविधा, मिनिमम बैलेंस, एटीएम व चेक का इस्तेमाल करने तक पर बैंक ग्राहक से पैसे वसूलता है। लेकिन अगले माह से ग्राहकों को बैंकों में अपना पैसा जमा करने और निकासी के लिए भी तय शुल्क देना पड़ेगा। इससे ग्राहकों की जेब पर अतिरिक्त खर्चा आएगा।

बैंक ऑफ बड़ौदा कर चुका है शुरुआत

ज्यादातर बैंक भले ही अगले माह यानी नवंबर से तय सीमा से ज्यादा बैकिंग करने पर अतिरिक्त चार्ज वसूलना शुरू करेंगे, लेकिन बैंक ऑफ बड़ौदा ने पहले ही इसकी शुरुआत कर दी है। इसके अलावा बैंक ऑफ इंडिया, पीएनबी, एक्सिस और सेंट्रल बैंक इस पर जल्द ही फैसला लेने जा रहे हैं। अगले महीने से यानी नवंबर 2020 से तय सीमा से ज्यादा बैंकिंग करने पर ग्राहकों को अलग से शुल्क देना होगा। आपको बता दें कि बैंक ऑफ बड़ौदा ने चालू खाते, कैश क्रेडिट लिमिट और ओवरड्राफ्ट खाते से पैसे जमा और निकालने के अलग व बचत खाते से जमा-निकासी के अलग-अलग शुल्क निर्धारित किए हैं। बीओबी के ग्राहक अगले माह से लोन खाते के लिए महीने में तीन बार के बाद जितनी बार भी पैसा निकालेंगे, उन्हें उस ट्रांजेक्शन के लिए 150 रुपये देने होंगे।

संसद की संयुक्त समिति ने ट्विटर के शीर्ष अधिकारियों से लिखित में मांगा स्पष्टीकरण, ये है पूरा मामला

वहीं, अगर बचत खाते की बात करें तो ऐसे ग्राहकों के लिए तीन बार तक जमा करना फ्री होगा, लेकिन अगर ग्राहकों ने महीने में चौथी बार पैसे जमा किए, तो उन्हें 40 रुपये शुलक के ​रूप में देने होंगे। यहां तक कि बैंकों ने वरिष्ठ नागरिकों को भी इस मामले में कोई राहत नहीं दी है। पीएम जनधन योजना के खाताधारकों को इसमें थोड़ी राहत दी गई है। जनधन खाताधारकों को पैसा जमा करने पर कोई अतिरिक्त शुल्क नहीं देना होगा, लेकिन तय सीमा से ज्यादा बैंकिंग करने यानी पैसे निकालने पर 100 रुपये देना होंगे।

COMMENT