रणवीर का ये कैसा प्रमोशन, ओवरफ्लो हो रही है एनर्जी

Views : 3331  |  0 minutes read

रणवीर सिंह को इंडस्ट्री का एनर्जी टैंक कहा जाता है। चाहे फिल्म का सेट हो, पार्टी हो या कोई भी इवेंट हो उनकी एनर्जी देखकर हर कोई प्रभावित हो जाता है। पिछले कुछ समय से उनकी पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ में जिस तरह से ग्रोथ हो रही है, उसके बाद उनकी एनर्जी एक लेवल उपर नज़र आ रही है। जब तक यह एनर्जी काम के प्रति है तब तक तो ठीक है, लेकिन जब यह किसी को हर्ट करे तो निश्चित तौर पर यह बुरी है। पिछली फिल्म ‘सिम्बा’ की सफलता से उत्साहित रणवीर इन दिनों जोया अख्तर की फिल्म ‘गली बॉय’ का प्रमोशन कर रहे हैं। लेकिन इस दौरान उनमें अति उत्साह देखने को मिल रहा है या यूं कहें कि एनर्जी उनके अंदर उबाल मार रही है।फिल्म में रैपर की भूमिका निभा रहे रणवीर अपने किरदार में इतने घुस गए हैं कि वे समझ ही नहीं पा रहे कि प्रमोशन और फिल्म के सेट में अंतर होता है।

हाल ही प्रमोशन के दौरान उन्होंने बिन देखे भीड़ के बीच छलांग लगा दी। इस कारण कई लोगों को चोट आई और अव्यवस्था फैल गई। रणवीर की इस बचकानी हरकत से काफी लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। नतीजन रणवीर को अपना नया सुपरहीरो मानने वाले यूथ ने इंटरनेट पर उन्हें ​इसके लिए काफी भला बुरा कहा। कुछ दिनों पहले पुलिस प्रशासन के लिए हुए इवेंट में भी वे पुलिस वालों की गोद में चढ़ गए थे।

दरअसल समस्या यह है कि पिछले कुछ समय से इंडस्ट्री में प्रमोशन का कीड़ा परेशानी का सबब बन रहा है। फिल्म को डिफरेंट अंदाज में प्रमोट करना ताकि दर्शकों को सिनेमाघर तक खींचा जा सके। यही कारण है रहा कि एनर्जी की दुकान रणवीर अपने इमोशंस पर काबू नहीं रख पाए और बिना सोच समझे लोगों पर कूद गए। फिल्म के बारे में लोगो को बताना जरूरी है लेकिन उनके दिमाग में घुसने की कोशिश करना बेवकूफी है। यदि फिल्म की स्टोरीलाइन और एक्जीक्युशन बेहतर है तो दर्शक खुद हॉल तक जाएंगे, लेकिन यदि मसाला ही नहीं होगा तो फिर भले ही कितनी ही देर प्रमोशन का पकवान पकाया जाए, स्वाद नहीं आएगा।

ऐसी हरकत करके रणवीर अपनी इमेज को खराब कर रहे हैं और यह उनके लिए अलार्म है। यदि वे अभी नहीं समझे तो थोड़े दिन बाद लोग उन्हें बचकानी हरकतें करने वाला हीरो समझने लगेंगे। अभी जिन बातों पर लोगों को हंसी आ रही है, थोड़े दिन बाद यही बातें उन्हें इरीटेट करने लगेंगी। उनकी एनर्जी ही उनके लिए परेशानी का कारण बन जाएगी। जैसा की पुरानी कहावत है अति हर चीज की बुरी होती है, यह रणवीर के मामले में भी बिलकुल सटीक है। उत्साह और अति उत्साह में बहुत अंतर है, जिसे रणवीर को समझना होगा।

COMMENT