पुलवामा एनकाउंटर में सुरक्षाबलों ने मार गिराए मसूद अजहर का रिश्तेदार समेत तीन आतंकी

Views : 1090  |  3 minutes read
Pulwama-Encounter

जम्मू-कश्मीर में भारतीय सुरक्षाबलों द्वारा चलाए जा रहे एक के बाद एक ऑपरेशन में कई आतंकियों का खात्मा किया जा चुका है। आज बुधवार सुबह भी सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी मिली है। सुरक्षाबलों ने पुलवामा में हुई एक मुठभेड़ में जैश-ए-मोहम्मद सरगना मौलाना मसूद अजहर का करीबी रिश्तेदार समेत तीन आतंकियों को मार गिराया। भारतीय सुरक्षाबलों ने इन आतंकियों के कब्जे से भारी मात्रा में गोला-बारूद भी बरामद किया है।

सीआरपीएफ के काफिले पर हमले में थी अहम भूमिका

पुलवामा एनकाउंटर में आज तड़के मारे गए तीन पाकिस्तानी आतंकियों में फौजी भाई उर्फ मोहम्मद इस्माइल अल्वी उर्फ लंबू जैश सरगना मसूद अजहर का रिश्तेदार और आईईडी विशेषज्ञ था। पिछले साल 14 फरवरी को पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर जिस कार ने हमला किया था, उसमें आईईडी इस्माइल अल्वी ने ही फिट की थी। जानकारी के लिए बता दें, इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। वहीं पिछले महीने पुलवामा में आईईडी से भरी जिस कार को ब्लास्ट कर उड़ाया गया, उसमें भी इस्माइल का ही हाथ था। आतंकी पुलवामा जैसे हमले की फिराक में थे।

कंगन इलाके में घेराबंदी कर शुरू की जवाबी कार्रवाई

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि पुलवामा जिले के कंगन इलाके में सुबह हुई इस मुठभेड़ में भारतीय सुरक्षाबलों ने तीन आतंकियों को ढेर कर दिया। उन्होंने बताया कि सुरक्षाबलों ने आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना मिलने के बाद पुलवामा के कंगन इलाके की घेराबंदी की। वहां तलाश अभियान चलाया। तलाशी अभियान उस समय मुठभेड़ में बदल गया जब आतंकवादियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग शुरू कर दी। इसके बाद सुरक्षाबलों ने भी जवाबी कार्रवाई करते हुए तीनों आतंकियों को मार गिराया।

Read More: भारत में कोरोना वायरस संक्रमण से मरने वालों में इतने प्रतिशत मरीज बुजुर्ग

पुलिस अधिकारी ने बताया कि मारे गए तीनों आतंकवादियों की पहचान की जा रही है और यह भी पता लगाया जा रहा है कि वे किस आतंकी संगठन से जुड़े हुए थे। उन्होंने बताया कि मुठभेड़ स्थल से कई हथियार और गोला-बारूद समेत आपराधिक सामग्री बरामद की गई है।

COMMENT