कैबिनेट की मंजूरी के बाद अब श्यामा प्रसाद मुखर्जी पोर्ट ट्रस्ट के नाम से जाना जाएगा कोलकाता पोर्ट ट्रस्ट

Views : 1595  |  3 minutes read
Kolkata-Port-Trust-Renamed

देश के सबसे महत्वपूर्ण बंदरगाहों में से एक कोलकाता पोर्ट ट्रस्ट को अब नए नाम से जाना जाएगा। इस पोर्ट ट्रस्ट का नाम अब श्यामा प्रसाद मुखर्जी ट्रस्ट हो गया है। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने बुधवार को बताया कि कोलकाता पोर्ट ट्रस्ट का नाम बदलकर डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी पोर्ट ट्रस्ट रखने के फैसले को केंद्रीय कैबिनेट ने मंजूरी दे दी है। आपको बता दें, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 11 जनवरी को डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम पर कोलकाता पोर्ट ट्रस्ट का नाम रखने की घोषणा की थी। उन्होंने कोलकाता पोर्ट की 150वीं वर्षगांठ समारोह के अवसर पर इसकी घोषणा की थी।

पीएम ने कहा था, औद्योगिकीकरण के अग्रदूतों में से एक थे मुखर्जी

पीएम मोदी ने कहा था कि डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी बंगाल के थे और औद्योगिकीकरण के अग्रदूतों में से एक थे। ऐसे में इस बंदरगाह का नाम मुखर्जी के नाम पर रखना एक जरूरी कदम है। उन्होंने कहा था, ‘इस बंदरगाह को अब श्यामा प्रसाद मुखर्जी बंदरगाह के रूप में जाना जाएगा। यह देश के लिए दुर्भाग्यपूर्ण था कि श्यामा प्रसाद मुखर्जी और बाबा साहेब आंबेडकर द्वारा सरकार से इस्तीफा देने के बाद उनके सुझावों को लागू नहीं किया गया था जैसा कि किया जाना चाहिए था।’

Read: पुलवामा एनकाउंटर में सुरक्षाबलों ने मार गिराए मसूद अजहर का रिश्तेदार समेत तीन आतंकी

कैबिनेट बैठक में लिए गए किसानों से जुड़े कई अहम फैसले

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि प्रधानमंत्री आवास पर आज बुधवार को हुई एक सप्ताह में दूसरी कैबिनेट बैठक में किसानों से संबंधित कई अहम फैसले लिए गए। इसमें किसानों को अधिक लाभ हो सके, इसलिए उन्हें एपीएमसी एक्ट से बाहर भी उत्पाद बेचने की अनुमति दी गई है और कई कृषि उत्पादों को आवश्यक वस्तु कानून से बाहर कर दिया गया। अब किसान अपनी उपज मंडी से बाहर सीधे निर्यातक को भी बेच सकेंगे।

COMMENT