पेटा इंडिया ने विराट को चुना पर्सन ऑफ द ईयर 2019, ये भारतीय भी पा चुके हैं यह सम्मान

Views : 5462  |  0 minutes read

भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली को ‘पीपल्स फॉर द एथिकल ट्रीटमेंट ऑफ एनिमल्स (पेटा), इंडिया’ का पर्सन ऑफ द ईयर 2019 के लिए चुना गया है। उन्हें यह सम्मान जानवरों के प्रति उनके लगाव और उनके हितों के लिए प्रयास करने के लिए दिया गया है। कोहली ने पशुओं की स्थिति सुधारने के लिए पेटा इंडिया की तरफ से भारत सरकार को एक पत्र लिखा था। उन्होंने

क्रिकेटर और कप्तान विराट कोहली को जानवरों से काफी लगाव है और वह समय—समय पर सोशल मीडिया पर कई बार इसे अपने फैंस के आगे जाहिर करते रहते हैं।

विराट को मिले इस सम्मान पर पेटा इंडिया की ओर से कहा गया कि विराट कोहली ने जानवरों के साथ बेहतर बर्ताव हो, इसके लिए कई कोशिशें की हैं। उन्होंने राजस्थान के प्रसिद्ध किले आमेर में सवारी के लिए इस्तेमाल की जाने वाले हाथी मालती को छुड़ाने के लिए सरकार से अपील की थी। इस हाथी को पिछले साल पर्यटकों के एक समूह को बुरे तरीके से पीटते हुए देखा था। इसके बाद पेटा इंडिया ने तुरंत कार्रवाई की। हाथी छुड़ाने के अलावा कोहली ने पेटा इंडिया पशु क्रूरता निवारण अधिनियम, 1960 में कुछ नियमों में बदलाव की मांग की।

आवारा पशुओं के दें पनाह

वहीं 31 वर्षीय कोहली ने बेंगुलरु में जानवरों के शेल्टर में घायल कुत्तों से भी मिलने गए थे। उन्होंने अपने फैंस से अपील भी की थी। विराट का कहना था, कि अगर आप कोई पेट्स खरीदने बाजार जा रहे हैं तो उसे वहां से न खरीदें किसी सड़क पर चलते कुत्ते को घर पर पालें ताकि उन्हें कोई घर मिले। इसके अलावा कोहली ने जानवरों के प्रति प्यार बरतने की भी अपील की थी।

ये भारतीय भी पा चुके हैं यह अवॉर्ड

बता दें कि विराट के अलावा पेटा के ‘पर्सन ऑफ द ईयर’ का सम्मान कई भारतीय पा चुके हैं। जिनमें भारतीय राजनेता शशि थरूर, सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश के एस पणिक्कर राधाकृष्णन और एक्ट्रेस हेमा मालिनी, अनुष्का शर्मा, सनी लियोन, सोनम कपूर, कपिल शर्मा, आर माधवन और जैकलीन फर्नांडीज आदि शामिल हैं।

क्या है पेटा

People for the Ethical Treatment of Animals (पेटा) एक पशु अधिकारों के लिए लड़ने वाला संगठन है। इस संस्था का उद्देश्य दुनियाभर के लोग पशुओं के साथ नैतिक व्यवहार कर और उनके लिए संरक्षण के लिए काम करें। यही नहीं यह पशुओं की देख रेख से लेकर उनके रख रखाब तक का भी ध्यान रखती है।

Peta की स्थापना 22 मार्च, 1980 को इंग्रिड न्यूकिर्क और एलेक्स पचेको ने की थी। यह पूरे संसार का सबसे बड़ा पशु-अधिकार संगठन है। इसका मुख्यालय अमेरिका के वर्जिनिया के नॉर्फोल्क (Norfolk) में स्थित है। इसके अध्यक्ष इंग्रिड न्यूकिर्क हैं।

पेटा का नारा है ‘जानवरों को खाने, पहनने, प्रयोग करने, मनोरंजन के लिए इस्तेमाल करने या किसी अन्य तरीके से दुरुपयोग करने के लिए हमारा नहीं है।’ इसके 6.5 मिलियन सदस्य और समर्थक है।

COMMENT