अब डिजिटल केवाईसी से मिलेगा सिम कार्ड, डिजिटल रूप में होगा वेरिफिकेशन

Views : 795  |  3 minutes read
SIM-Through-Digital-KYC

अभी तक आपको सिम कार्ड लेने के लिए आधार कार्ड या किसी अन्य दस्तावेज की फोटोकॉपी देनी पड़ती है लेकिन जल्द ही आपको इससे आजादी मिलने वाली है। सरकार ने डिजिटल KYC को मंजूरी दे दी है जिसके बाद सिम कार्ड के लिए दस्तावेज का वेरिफिकेशन डिजिटल रूप में ही होगा। सरकार का कहना है कि टेलीकॉम कंपनियों के पास 400 करोड़ से कागजों का अंबार जमा हुआ है। ऐसे में अब नए मोबाइल कनेक्शन के लिए डिजिटल KYC कराने का फैसला लिया गया है।

सेल्फ डिक्लेरेशन के आधार पर होगा टावर का इंस्टालेशन

केंद्र सरकार की ओर एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा गया कि सिम कार्ड खरीदने के लिए अब डिजिटल फॉर्मेट में कस्टमर का वेरिफिकेशन होगा। इसके अलावा प्रीपेड से पोस्टपेड या पोस्टपेड से प्रीपेड में जाने पर दोबारा KYC नहीं किया जाएगा। यह भी बताया गया कि मोबाइल टावर को लेकर कई फ्रॉड केस सामने आए हैं। ऐसे में अब सेल्फ डिक्लेरेशन के आधार पर टावर का इंस्टालेशन होगा।

सरकार ने वोडाफोन-आइडिया को दी बड़ी राहत

डिजिटल केवाईसी के बड़े ऐलान के अलावा केंद्र सरकार ने टेलीकॉम कंपनियों को बड़ी राहत दी है। टेलीकॉम कंपनियों को स्पेक्ट्रम चार्जेज और एजीआर बकाए को चुकाने के लिए 4 सालों का मोराटोरियम दिया गया है। इसके अलावा अब एजीआर कैलकुलेशन में नॉन टेलीकॉम रेवेन्यू को शामिल नहीं किया जाएगा। जानकारी के अनुसार, एजीआर के ब्याज दरों में भी टेलीकॉम कंपनियों को सरकार द्वारा राहत दी गई है।

Read Also: डीएनडी एक्टिवेट करने के बाद भी उपभोक्ताओं को मिल रहे अनचाहे मैसेज और कॉल

COMMENT