भारत में इस बार 2 मई से पहले मानसून आने का अनुमान, सामान्य से ज्यादा होगी बारिश

Views : 2176  |  3 minutes read
Monsoon-India

इस बार मानसून 2 मई तक भारत पहुंचने की संभावना जताई गई है। साथ ही एक अच्छी खबर ये है कि दक्षिणी एशिया में सामान्य से ज्यादा बारिश होने की संभावना है। एक फोरम ने जून से सितंबर के बीच ज्यादा बारिश होने की उम्मीद जताई है। दक्षिण एशियाई मौसमी जलवायु आउटलुक फोरम (एसएएससीओएफ) और जलवायु सेवा उपयोगकर्ताओं के फोरम की ओर से जारी बयान में कहा गया कि जून से सितंबर के दौरान दक्षिण-एशिया में इस बार सामान्य से ज्यादा बारिश होगी।

उत्तर-पूर्वी हिस्सों में कई जगह सामान्य से नीचे रहेगा मानसून

जारी किए गए बयान में कहा गया है कि हिमालय से सटे देश नेपाल, भूटान,पाकिस्तान और भारत के मध्य भाग और उत्तर-पश्चिम के कुछ क्षेत्रों में सामान्य से ज्यादा बारिश की संभावना है। हालांकि, उत्तर-पूर्वी हिस्सों में कुछ क्षेत्रों में मानसून सामान्य से नीचे रहेगा। फोरम के एक अधिकारी ने बताया कि जुलाई 2020 और अप्रैल 2021 के बीच ला नीना तूफान कमजोर पड़ा है। देश के कई हिस्सों में मानसून से पहले बारिश की शुरुआत हो गई है। भारतीय मौसम विभाग की जानकारी के अनुसार, 30 अप्रैल तक देश में नमी भरा मौसम रह सकता है। हालांकि, देश के कुछ हिस्सों में पारा में चढ़ाव दिखेगा तो कहीं हल्की बारिश भी होगी।

मैदानी इलाकों में गरज के साथ तेज़ हवा चलने की संभावना

इससे पहले भारतीय मौसम विभाग ने बुधवार को बताया था कि अगले पांच दिनों में जम्मू, कश्मीर, लद्दाख, गिलगित, बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में आंधी के साथ बारिश होने की संभावना है। वहीं, 30 अप्रैल से 2 मई के बीच उत्तर पश्चिम भारत के मैदानी इलाकों में गरज के साथ तेज़ हवा चल सकती है। मौसम विभाग के अनुसार, पश्चिम और उत्तरी राजस्थान में भी गरज के साथ बौछारें होंगी। इस दौरान हवा की रफ्तार 40-50 किमी प्रति घंटे रह सकती है।

Read More: पीएम केयर्स फंड से 1 लाख पोर्टेबल ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर खरीदने की मिली मंजूरी

COMMENT