जावेद अख्तर: वो शायर जिसका हर अल्फ़ाज़ लोगों की आम जिंदगी का हिस्सा बन गया

Views : 2010  |  3 minutes read
javed-akhtar

क्यों डरें जिंदगी में क्या होगा,

कुछ ना होगा तो तजुर्बा होगा

बॉलीवुड में जहां 70 और 80 का दशक अमिताभ बच्चन, धर्मेंद्र, राजेश खन्ना जैसे सितारों के नाम रहा, वहीं इसी दौर में यहां लेखकों की भी एक जोड़ी हुआ करती थी जिनका रसूख आज भी उतना ही कायम है। इनकी कलम से निकले हर लफ्ज लोगों की जिंदगी का एक हिस्सा बनते चले गए। जी हां, हम बात कर रहे हैं सलीम-जावेद की अमर जोड़ी की। कहानियां लिखने के साथ गाने और सैंकड़ों यादगार डायलॉग इनकी कलम से निकले।

समय के साथ सलीम खान ने सफर को अलविदा कहा तो जावेद अख्तर अपने गीतों, शायरियों, कहानियों के जरिए सिनेमा में बने रहे और आज भी उनकी कोई नज्म सुनने को हर कोई बेकरार रहता है। “मेरे पास मां है” से लेकर “मोगैम्बो खुश हुआ” जैसे बेस्ट डायलॉग इसी जोड़ी के दिमाग की उपज थे।

इन चराग़ों में तेल ही कम था

क्यूँ गिला फिर हमें हवा से रहे

जावेद अख्तर  17 जनवरी को अपना 75वां जन्मदिन मना रहे हैं। जावेद अख्तर को अगर हम “जादू” कहें तो भी गलत नहीं होगा, क्योंकि यह उनका असली नाम था। उर्दू के महान शायर और फिल्म गीतकार जां निसार और गायिका-लेखिका सैफिया अख्तर के घर जावेद 17 जनवरी, 1945 को पैदा हुए।

स्कूल में दोस्त लिखवाते थे लव-लेटर

जावेद अख्तर को छोटी सी उम्र में ही लिखने का चस्का लग गया था जिसके कारण उनके स्कूल के दिनों में उनके दोस्त उनसे ही अपने लव लेटर लिखवाया करते थे। बॉलीवुड में एंट्री लेना हर किसी के लिए आसान नहीं होता ऐसे में जावेद को शुरूआती दिनों में क्लैपर ब्वॉय का काम मिला।

ऊँची इमारतों से मकाँ मेरा घिर गया

कुछ लोग मेरे हिस्से का सूरज भी खा गए

शादीशुदा जिंदगी की शुरूआत जावेद अख्तर ने हनी ईरानी के साथ 1972 में शादी करके की। दोनों के दो बच्चे हैं फरहान अख्तर और जोया अख्तर हैं। साल 1978 दोनों का तलाक हुआ जिसके बाद 1985 में जावेद ने अभिनेत्री शबाना आजमी से दूसरा निकाह किया।

सलीम खान से मुलाकात ने बदल दी जिंदगी

सलीम-जावेद की जोड़ी के आज भी हर तरफ चर्चे रहते हैं। फिल्म ‘सरहदी लुटेरा’ की शूटिंग के समय जावेद अख्तर की पहली बार सलीम खान से मुलाकात हुई। दोनों की दोस्ती परवान चढ़ी और आगे चलकर दोनों ने फिल्म ‘हाथी मेरे साथी’ की स्क्रिप्ट लिखी।

सलीम-जावेद की लिखी पहली फिल्म में राजेश खन्ना ने मुख्य भूमिका निभाई थी। बॉलीवुड में इस जोड़ी के नाम 24 फिल्में दर्ज हैं, जिसमें ‘जंजीर’, ‘दीवार’, ‘डॉन’, ‘शक्ति’, ‘शोले’, ‘क्रांति’ और ‘मिस्टर इंडिया’ जैसी फिल्में भी शामिल हैं। इनमें से 20 फिल्में हिट रहीं।

Read More: कार्तिक और सारा की ‘लव आज कल’ का फर्स्ट पोस्टर जारी, इस दिन रिलीज़ होगा ट्रेलर

अपने उम्दा काम के लिए जावेद अख्तर को अब तक दर्जनों अवार्ड से नवाजा जा चुका है। वहीं उनकी कविता संग्रह “लावा” को उर्दू का साहित्य अकादमी पुरस्कार भी दिया जा चुका है।

 

COMMENT