भारत आने वाले यात्रियों के लिए नेगेटिव आरटी-पीसीआर रिपोर्ट लाना अनिवार्य

Views : 713  |  3 minutes read
Guidelines-For-International-Passengers-Arriving-India

भारत में अब कोरोना संक्रमण के नए मामले लगातार कमी देखी जा रही है। हालांकि, केंद्र सरकार अब भी देश में कोरोना वायरस महामारी की तीसरी लहर को लेकर पूरी तरह सतर्कता बरत रही है। इसी बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि भारत आने वाले सभी अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए निगेटिव आरटी-पीसीआर टेस्ट रिपोर्ट जरूरी होगी। केंद्रीय मंत्रालय ने बुधवार को इस संबंध में गाइडलाइन जारी की।

रिपोर्ट की पुष्टि करने के लिए घोषणा-पत्र भी जरूरी

नई गाइडलाइन के मुताबिक, आरटी-पीसीआर टेस्ट रिपोर्ट यात्रा से 72 घंटे पहले की होनी चाहिए। इसके साथ ही सभी यात्रियों को रिपोर्ट की पुष्टि करने के लिए घोषणा-पत्र भी देना अनिवार्य होगा। गाइडलाइन के साथ ही केंद्र सरकार ने उन देशों की सूची जारी की, जहां से आने वाले यात्रियों को जरूरी नियमों का पालन करना आवश्यक होगा। भारत सरकार की इस सूची में ब्रिटेन, दक्षिण अफ्रीका, ब्राजील, बांग्लादेश, बोत्सवाना, चीन, मॉरीशस, न्यूजीलैंड और जिम्बाम्बे शामिल हैं। इन देशों को खतरे वाले देशों की सूची में रखा गया है।

केंद्र ने राज्यों व सभी यूटी को दी 102.4 करोड़ वैक्सीन खुराक

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बुधवार को जानकारी देते हुए बताया कि अब तक भारत सरकार के माध्यम से और राज्यों द्वारा खरीद श्रेणी के तहत राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को 102.4 करोड़ से अधिक कोविड-19 वैक्सीन खुराक प्रदान की जा चुकी है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि राज्यों के पास अभी भी 10.78 करोड़ (10,78,72,110) से अधिक वैक्सीन उपलब्ध हैं। केंद्र सरकार टीकाकारण गति को तेज करने और पूरे देश में इसके दायरे का विस्तार करने के लिए प्रतिबद्ध है।

केंद्रीय मंत्रालय ने कहा है कि कोरोना टीकाकरण अभियान को तेज करने के लिए राज्यों को अधिक टीकों की उपलब्धता सुनिश्चित कराई गई है, ताकि वे बेहतर योजना बना सकें और वैक्सीन आपूर्ति श्रृंखला को सुव्यवस्थित कर सकें। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि इस वैश्विक महामारी के खिलाफ राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के तहत केंद्र सभी राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों को मुफ्त में कोरोना टीके उपलब्ध करवा रहा है। आपको बता दें कि देश में कोरोना टीका लगवाने लोगों की कुल संख्या 100 करोड़ के पार पहुंचने वाली है।

Read Also: क्वारंटीन नियमों पर ब्रिटेन के झुकने के बाद भारत ने भी दी उसके नागरिकों को राहत

COMMENT