इजरायली सिक्योरिटी फर्म का दावा, भारत के 70 लाख भीम ऐप यूजर्स का डाटा हुआ लीक

Views : 938  |  3 minutes read
BHIM-App

देश में डिजिटिल पेमेंट को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार ने भीम ऐप लॉन्च किया। यह यूपीआई यानी यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस पर आधारित एक ऐप्लीकेशन है। दरअसल, भारत में करोड़ों लोग भीम ऐप का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन इन लोगों की निजी जानकारी अब ख़तरे में है। इजरायल की एक सिक्योरिटी फर्म वीपीएनमेंटर (vpnMentor) ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया है कि भारत के करीब 70 लाख भीम ऐप यूजर्स का डाटा लीक हो गया है। इस कंपनी का दावा है कि डाटा उस वक्त लीक हुआ, जब इसे भीम ऐप पर अपलोड किया जा रहा था।

यूजर्स का कुल 409 जीबी डाटा लीक हुआ: रिपोर्ट

इजरायलली सिक्योरिटी फर्म की रिपोर्ट के मुताबिक कुल 409 जीबी डाटा लीक हुआ है, जिसमें यूजर्स के आधार कार्ड, जाति प्रमाण-पत्र, निवास का प्रमाण, बैंक रिकॉर्ड के साथ उनकी प्रोफाइल की भी जानकारी शामिल है। रिपोर्ट में कहा गया है कि जिस वेबसाइट से डाटा लीक हुआ है उसका इस्तेमाल भीम ऐप के प्रचार के लिए कैंपेन में किया जा रहा था। उस दौरान भीम ऐप में बिजनेस मर्चेंट और यूजरों को ऐप से जोड़ा जा रहा था। डाटा अपलोडिंग के दौरान कुछ डाटा अमेजन वेब सर्विस एस3 बकेट में स्टोर हो रहा था जो कि सार्वजनिक है। सिक्योरिटी फर्म ने रिपोर्ट में बताया है कि यह सारा खेल फरवरी 2019 में हुआ।

Read More: भारतीय यूजर्स के लिए खास फीचर लॉन्च, फेसबुक प्रोफाइल कर सकेंगे लॉक

हैकर्स के पास आधार कार्ड से लेकर बैंक खाते की जानकारी

भीम ऐप का डाटा लीक होने के बाद भारत में इस ऐप के लाखों यूजर्स की निजी जानकारी हैकर्स के पास पहुंच गई है। रिपोर्ट के मुताबिक, हैकर्स के पास यूजर्स के आधार कार्ड से लेकर उनके बैंक अकाउंट तक की जानकारी मौजूद है। ऐसे में ऐप यूजर्स को आसानी से हैकिंग का शिकार बनाया जा सकता है, हालांकि इस खामी को बीते अप्रैल में ठीक कर लिया गया है। लेकिन जिन लोगों का डाटा लीक हुआ है, उनपर अभी भी ख़तरा बना हुआ है। भीम ऐप का डाटा लीक होने पर इसे बनाने वाली नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन और कंप्यूटर इमरजेंसी रिस्पॉन्स टीम की ओर से अभी तक कोई बयान सामने नहीं आया है। वहीं, ऐप यूजर्स की चिंता बनी हुई है।

COMMENT