भारत और चीन के सैनिकों के बीच एक बार फिर हुई झड़प, भारतीय सेना ने घुसपैठ नाकाम की

Views : 1095  |  3 minutes read
India-China-Clash

भारतीय सेना और चीन की पीएलए के सैनिकों के बीच एलएसी पर एक बार फिर झड़प हुई। मीडिया जानकारी के अनुसार, 29 अगस्त की रात यह झड़प पेंगोंग त्सो झील के पास हुई। केंद्र सरकार ने इस झड़प पर कहा है कि मुस्तैदी से तैनात हमारे जांबाज सिपाहियों ने चीनी सैनिकों की घुसपैठ को नाकाम कर दिया है। चीन अपने 500 सैनिकों के साथ भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ करने की फ़िराक में था। भारतीय सेना के पीआरओ कर्नल अमन आनंद ने कहा, ‘पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के जवानों ने 29/30 अगस्त की रात को पूर्वी लद्दाख में चल रहे गतिरोध के दौरान दोनों देशों के बीच शांति स्थापित करने के लिए हुई सैन्य और राजनयिक बातचीत का उल्लंघन किया और यथास्थिति को बदलने के लिए घुसपैठ की।’

भारतीय सेना शांति और एकता बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध

पीआरओ कर्नल अमन आनंद ने कहा, ‘भारतीय सेना ने पेंगोंग त्सो झील के दक्षिणी किनारे पर पीएलए के जवानों की इस कायराना हरकत को नाकाम कर दिया। सेना के जवानों ने इस इलाके में हमारी स्थिति को मजबूत किया और जमीनी स्थिति को बदलने के चीनी इरादों को ध्वस्त किया।’ उन्होंने आगे कहा, ‘भारतीय सेना बातचीत के माध्यम से शांति और एकता बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध है, लेकिन अपनी क्षेत्रीय अखंडता की रक्षा के लिए भी समान रूप से दृढ़ है। सीमा मुद्दों को हल करने के लिए चुशुल में ब्रिगेड कमांडर स्तर की फ्लैग मीटिंग चल रही है।’

Read More: सीमा विवाद पर चीन से वार्ता विफल हुई तो सैन्य विकल्प तैयार है: सीडीएस रावत

500 सैनिकों के साथ घुसपैठ की थी योजना

आपको जानकारी के लिए बता दें कि चीन ने भारतीय सीमा में घुसपैठ के लिए बड़े स्तर पर योजना बना रखी थी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, चीन अपनी पीएलए के 500 सैनिकों के साथ घुसपैठ करने की कोशिश कर रहा था, लेकिन भारतीय जवानों के साहस ने उसके मंसूबों पर पानी फेर दिया। चीन के इन इरादों से यह साफ हो जाता है कि चीन अड़ने के लिए तैयार बैठा है।

COMMENT