डोपिंग के दोषी अमृतपाल और नीरज फोगाट पर लगाया 4 साल का प्रतिबंध, संजीता चानू आरोप मुक्त

Views : 784  |  3 minutes read
NADA-Doping-Ban

भारत के बास्केटबॉल खिलाड़ी अमृतपाल सिंह और महिला बॉक्सर नीरज फोगाट डोपिंग में फंस गए हैं। नेशनल एंटी डोपिंग एजेंसी यानी नाडा ने इन दोनों पर 4-4 साल का प्रतिबंध लगाया है। अमृतपाल ने प्रतिबंधित पदार्थ टर्बुटेलाइन का सेवन किया था, जबकि फोगाट को प्रदर्शन को बढ़ाने के लिए ड्रग्स लेने का दोषी पाया गया है।

इसी बीच एक भारतीय खिलाड़ी के लिए अच्छी ख़बर भी आई है। वेटलिफ्टर संजीता संजीता चानू पर लगे आरोपों को हटा लिया गया है। इंटरनेशनल वेटलिफ्टिंग फेडरेशन (आईडब्ल्यूएफ) ने चानू को डोपिंग मुक्त कर दिया है। बता दें, वर्ल्ड एंटी डोपिंग एजेंसी यानी वाडा की सिफारिश के आधार पर आईडब्ल्यूएफ ने यह फैसला लिया है।

प्रतिबंधित किए गए दोनों खिलाड़ी खेल चुके हैं इंटरनेशनल

गौरतलब है कि भारतीय बास्केटबॉल खिलाड़ी अमृतपाल सिंह देश के एकमात्र खिलाड़ी हैं, जो ऑस्ट्रेलिया की नेशनल बास्केटबॉल लीग में खेल चुके हैं। उन्होंने साल 2011 में भारत के लिए अपना पहला अंतरराष्ट्रीय मैच खेला था। नाडा ने उनका सैंपल 16 फरवरी को लिया था। अमृतपाल पर यह प्रतिबंध इसी साल 19 मई से लागू माना जाएगा। वहीं, महिला बॉक्सर नीरज फोगाट ने पिछले साल गुवाहाटी में हुए इंडिया ओपन में स्वर्ण पदक अपने नाम किया था। उन्होंने बुल्गारिया के स्त्रांजा मेमोरियल टूर्नामेंट में भी ब्रॉन्ज मेडल जीता था। नीरज फोगाट पर यह प्रतिबंध 2 दिसंबर, 2019 से माना जाएगा।

फ्रांस के 21 वर्षीय एम्बाप्पे दुनिया के सबसे महंगे खिलाड़ी, लिस्ट में मेसी और रोनाल्डो काफी पीछे

चानू पर लगे आरोप को वापस लेने और केस को बंद करने का फैसला

आईडब्ल्यूएफ के वकील लीला सागी ने कहा कि वाडा ने 28 मई को बताया था कि संजीता चानू के सैंपल में कुछ भी गलत नहीं पाया गया है। ऐसे में उन पर लगे आरोप को वापस लेने और केस को बंद करने का फैसला किया गया है। आपको बता दें कि संजीता चानू कॉमनेवल्थ गेम्स में दो बार गोल्ड मेडल अपने नाम कर चुकी हैं।

COMMENT