हैरान रह गया किसान का बेटा जब अमेजन से उसे मिला एक करोड़ का पैकेज!

Views : 1953  |  0 minutes read
chaltapurza.com

हरियाणा के एक किसान परिवार में जन्मे इस होनहार युवा को जब अमेरिकी कंपनी अमेजन से एक करोड़ रुपये का पैकेज मिला तो वह खुद हैरान रह गया। ​जी हां, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से सटे ​हरियाणा राज्य के हिसार जिले के निवासी अमित बिश्‍नाेई को ऑनलाइन कंपनी अमेजन से एक करोड़ रुपये सालाना का पैकेज मिला है। पेशे से सॉफ्टवेयर इंजीनियर अमित हिसार के मंडी आदमपुर क्षेत्र के ठसका गांव का रहने वाला है। वह एक साधारण किसान परिवार से है। अच्छा पैकेज मिलने के बाद से अमित के परिवार और रिश्तेदारों में खुशी का माहौल है।

आईआईटी की परीक्षा में सफल नहीं रहा था अमित

अमेजन से एक करोड़ का पैकेज पाने वाले अमित बिश्नोई के मामा कृष्ण खिच्चड़ ने बताया कि उसने अपनी प्रारंभिक शिक्षा आदमपुर के गुरु जंभेश्वर स्कूल और शांति निकेतन स्कूल से पूरी की। इसके बाद अमित ने हिसार के डीएवी स्कूल से 12वीं कक्षा पास की। 12वीं के बाद अमित ने आईआईटी में प्रवेश के लिए एंट्रेस एक्जाम दिया, ले‍किन इसमें वह सफल नहीं हो सका। इसके बाद अमित ने हिसार के गुरु जम्भेश्वर विज्ञान एवं तकनीकी विश्वविद्यालय से कंप्यूटर साइंस में ग्रेजुएशन किया।

chaltapurza.com

अमेरिका से किया पोस्ट ग्रेजुएशन

वर्ष 2017 में अमित बिश्नोई को अमेरिका की दो यूनिवर्सिटी से पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स में प्रवेश के लिए कॉल आई। इसके बाद उसने कैलिफोर्निया स्टेट यूनिवर्सिटी लॉगबीच में मास्टर्स की पढ़ाई के लिए प्रवेश लिया और मई 2019 में अपनी पोस्ट ग्रेजुएशन की डिग्री पूरी की। अखिल भारतीय बिश्नोई महासभा के सदस्य पृथ्वी सिंह बेनीवाल ने बताया कि अमित की यूनवर्सिटी में हुए दीक्षांत समारोह में उसके नाना रामनारायण, नानी रोशनी देवी, मामा कृष्ण खिचड़, बुआ कृष्णा देवी, बहन रानी बिश्नोई, उर्वशी बिश्नोई, जीजा राहुल बिश्नोई और चाचा जगदीश बिश्नोई भी अमेरिका में उपस्थित थे। उसके मोटे पैकेज पर चयन होने से क्षेत्र के लोगों में भी काफी खुशी हैं।

Read More: नए नेवी चीफ करमबीर सिंह देश के सभी बड़े अधिकारियों के लिए आदर्श

मशीन लर्निंग और आर्टिफिशल इंटेलिजेंस पर किया शोध

पोस्ट ग्रेजुएशन डिग्री हासिल करने के लिए अमेरिका गए अमित बिश्नोई ने इस दौरान वहां मशीन लर्निंग और आर्टिफिशल इंटेलिजेंस विषय का चयन करते हुए विभाग के प्रोफेसर के साथ शोध कार्य किया। इस शोध में अमित ने व्यक्ति के दिमाग की विद्युतीय तरंगों से उत्पन्न सांख्यिकी को मशीन के जरिए इकट्ठा कर कंप्यूटर सॉफ्टवेयर से दिमाग में उत्पन हो रहे आवेगों को अलग-अलग भागों में विभाजित किया। डिग्री पूरी होने के बाद अमित को अब अमेजन से एक करोड़ के सालाला पैकेज पर नौकरी मिल गई है।

COMMENT