इलावेनिल वलारिवन बनी विश्व कप निशानेबाजी में स्वर्ण जीतने वाली तीसरी भारतीय महिला निशानेबाज

Views : 953  |  0 minutes read

ब्राजील के रियो डी जनेरियों में अपने पहले सीनियर शूटिंग विश्व कप में 20 वर्षीय इलावेनिल वलारिवन ने स्वर्ण पदक जीता। भारतीय महिला निशानेबाज इलावेनिल ने आईएसएसएफ वर्ल्ड कप के 10 मीटर एयर राइफल श्रेणी में बेहतरीन प्रदर्शन किया। वह 10 मीटर एयर राइफल श्रेणी में विश्व कप में स्वर्ण जीतने वाली अपूर्वी चंदेला और अंजली भागवत के बाद तीसरी भारतीय निशानेबाज बन गईं है।

वलारिवन ने बुधवार को 10 मीटर शूटिंग में सटीक निशाना लगाते हुए 251.7 अंक हासिल किए और गोल्ड मेडल पर कब्जा किया। जबकि ग्रेट ब्रिटेन के सियोनाड मैकिंटोश ने 250.6 अंकों के साथ रजत पदक जीता। इस टूर्नामेंट में भाग ले रही भारत ही दो अन्य निशानेबाज अंजुम मौदगिल और अपूर्वी चंदेला पदक जीतने में नाकाम रही। जहां वलारिवन ने स्वर्ण पर निशाना साधा वहीं अंजुम मौदगिल छठे स्थान पर तो अपूर्वी 11वें स्थान पर रहीं।

इस जीत के साथ ही भारतीय टीम ने इस टूनामेंट में पहले ही अधिकतम दो ओलंपिक कोटा हासिल कर लिया है, जबकि चीनी ताइपे की यिंग-शिन लिन को एक कोटा मिला जबकि दूसरा कोटा ईरान की खिलाड़ी को मिला।

इलावेनिल के स्वर्ण पदक जीतने पर ओलम्पिक पदक विजेता गगन नारंग ने ट्वीट कर उन्हें बधाई दी, ‘राष्ट्रीय खेल दिवस, इस शानदार जीत के साथ और बेहतर हो गया। इलावेनिल वलारिवन ने उसी दिन सीनियर विश्व कप में अपना गोल्ड मेडल जीता जिस दिन जीएनएसएफ (गगन नारंग स्पोर्ट्स प्रमोशन फाउंडेशन) को उसके सराहनीय कार्यो के लिए राष्ट्रीय खेल प्रोत्साहन पुरस्कार से सम्मानित किया जाना है।’

यह भी पढ़ें- पी.वी. सिंधु ने बैडमिंटन वर्ल्ड चैम्पियनशिप में जीता स्वर्ण पदक, यूं रहा चैम्पियन बनने का सफर

बता दें कि निशानेबाजी विश्व कप में स्वर्ण जीतने वाली इलावेनिल इस वर्ष की शुरुआत में हुए म्यूनिख विश्व कप में पदक जीतने से चूक गई थी। वलारिवन ने 208.3 अंक हासिल किए थे और वह चौथे स्थान पर रही थी।

COMMENT