मानवजीत सिंह संधू: ISSF विश्व शूटिंग चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने वाले पहले भारतीय

Views : 3132  |  0 minutes read

भारत के निशानेबाज मानवजीत सिंह संधू का 3 नवंबर को 43वां बर्थडे हैं। वह निशानेबाजी की ट्रैप शूटिंग में माहिर हैं। उन्हें वर्ष 2006 में राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया गया। वह 4 बार ओलंपिक खेलों में भारत का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। वह पूर्व में विश्व के नंबर 1 ट्रैप निशानेबाज रह चुके हैं।

जीवन परिचय

मानवजीत सिंह संधू का जन्म 3 नवंबर, 1976 को पंजाब राज्य के फिरोजपुर जिले के गांव रत्ता खेरा पंजाब सिंह वाला में हुआ था। उनके पिता का नाम गुरबीर सिंह है। उनकी आरंभिक शिक्षा हिमाचल प्रदेश के लॉरेंस स्कूल, सनावर में हुई। उन्होंने आगे की पढ़ाई यदाविंद्रा पब्लिक स्कूल, चंडीगढ़ और नई दिल्ली के दिल्ली पब्लिक स्कूल में अध्ययन किया।

 

उन्होंने ग्रेजुएशन की डिग्री दिल्ली यूनीवर्सिटी के वेंकेटेश्वर कॉलेज से हासिल की। मानवजीत सिंह ने कंगन से शादी की। इनके एक बेटा है।

कॅरियर

मानवजीत सिंह उनके पिता गुरबीर सिंह से काफी प्रभावित थे। उनके पिता निशानेबाज थे और उन्होंने ओलंपिक में भाग लिया और अर्जुन पुरस्कार विजेता हैं। इस वजह से मानवजीत की शुरूआती ट्रेनिंग उनके पिता की देखरेख में हुई।

उन्होंने तीन एशियाई गेम्स वर्ष 1998, 2002 और 2006 में निशानेबाजी में चार रजत पदक जीते हैं। मानवजीत ने वर्ष 1998 के राष्ट्रमंडल खेलों में ट्रैप स्पर्धा में स्वर्ण पदक और वर्ष 2006 के राष्ट्रमंडल खेलों में ट्रैप स्पर्धा में कांस्य पदक जीता। उन्होंने एशियन क्ले शूटिंग चैंपियनशिप में छह स्वर्ण पदक जीते हैं।

मानवजीत सिंह संधू वर्ष 2006 में ट्रैप शूटिंग रैंकिंग में दुनिया के नंबर 1 खिलाड़ी बने थे, वहीं वर्ष 2010 में रैंकिंग में तीसरे स्थान पर रहे है। उन्होंने वर्ष 2006 ISSF वर्ल्ड शूटिंग चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता। इस प्रकार वह विश्व चैंपियन बनने वाला पहला भारतीय शॉटगन शूटर था।

उन्होंने वर्ष 2004 के एथेंस ओलंपिक में भाग लिया लेकिन वह पदक जीत नहीं पाए। वर्ष 2008 में बिजिंग में हुए ओलंपिक गेम्स में मानवजीत ने हिस्सा लिया था। इन खेलों में उन्हें 12वां स्थान हासिल हुआ। वर्ष 2010 में हुई पहली  राष्ट्रमंडल शूटिंग चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता था। इसके एक हफ्ते बाद ही मानवजीत सिंह ने मैक्सिको में हुए विश्व कप में भी स्वर्ण पदक जीता।

मानवजीत ने वर्ष 2014 में यूएसए में हुई शूटिंग विश्वकप में स्वर्ण पदक जीता। वहीं उन्होंने वर्ष 2016 के रियो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया।

पुरस्कार एवं सम्मान

मानवजीत सिंह संधू को उनकी उपलब्धियों के लिए वर्ष 1998 में अर्जुन पुरस्कार और वर्ष 2006-2007 में भारत के सर्वोच्च खेल पुरस्कार राजीव गांधी खेल रत्न से सम्मानित किया गया।

COMMENT