देसी घी दो मुंह वाले बालों की समस्या कर देता है दूर, जानिए इसके और फायदे

Views : 2109  |  3 Minute read
Desi Ghee

देसी घी करीब हर घर में इस्तेमाल होता है। घी न केवल स्वाद बढ़ाता है बल्कि हमारी सेहत के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। भारत के गांवों में लोग दुधारु पालते हैं और शुद्ध घी बनाते हैं। आयुर्वेद में भी घी से शरीर को होने वाले फायदों के बार में बताया गया है।

तो आइए जानते हैं देसी घी से होने वाले फायदों के बार में –

1. नियमित देसी घी के सेवन से हृदय हेल्दी रहता है। यह हृदय की रक्तवाहिकाओं को ब्लॉक ब्लॉक होने से बचाता है।

2. घी में विटामिन K-2 पाई जाती है जो हड्डियों को तक कैल्शियम ले जाने का कार्य करती है। इसका नियमित सेवन करने से हड्डियां मजबूत होती है।

3. इसमें प्रचुर मात्रा में वसा पाई जाती है, जो हेल्दी तरीके से वजन बढ़ाने में सहायता करता है। इसके नियमित सेवन से शरीर में बाइलरी लिपिड का फ्लो बढ़ जाता है। इसकी वजह से ब्लड और आंतों में मौजूद खराब कोलेस्ट्रॉल कम हो जाता है।

4. घी का रेग्युलर इस्तेमाल इम्यूनिटी बढ़ाने में भी सहायक होता है। इसे रेग्युलर डाइट में लेने से मेटाबॉल्जिम सही तरीके से काम करता है। इससे इम्यूनिटी में बढ़ोतरी होती है, साथ ही बॉडी इन्फेक्शन और बीमारियां होने का खतरा कम रहता है।

त्वचा को कोमल बनाने मदद

5. यदि चेहरे पर रूखापन रहता है तो इसके लिए देसी घी का उपयोग करें। इसमें पाए जाने वाले एंटी-ऑक्सीडेंट्स हमारी स्किन को हेल्दी बनाने में सहायक होते है। इससे स्किन मुलायम और चमकदार बनती है।इसके लिए देसी घी और पानी को बराबर मात्रा में मिलाएं। अब इससे चेहरे पर हल्के हाथों से मालिश करें। रूखापन दूर होगा और त्वचा कोमल होगी।

6. स्किन को हाइड्रेट रखने का काम भी देसी घी करता है। शरीर पर देसी घी की मालिश करें फिर गुनगुने पानी से नहाएं। इससे त्वचा मुलायम होगी। इसके अलावा फटे होठों पर देसी घी लगाकर सोने से वे ठीक होकर मुलायम होने लगते है।

बालों के लिए फायदेमंद

7. देसी घी बालों के लिए बेहद फायदेमंद है। अगर दो मुंहे बाल है तो इन्हें जड़ से खत्म करने में घी एक बेहतर विकल्प है। इसके लिए घी को गुनगुना गर्म करें। फिर इससे सिर के बालों की उंगलियों से धीरे-धीरे मालिश करें। थोड़ी देर बाद धो लें। इस प्रकार नियमित सेवन करने से बाल स्वस्थ बनेंगे।

8. यदि आपके बाल उलझे और बेजान हैं तो इसे दूर करने के लिए देसी घी और जैतून का तेल बराबर मात्रा में मिलाएं। फिर सिर पर मालिश करें। कुछ देर बाद शैंपू कर लें।

9. थकान होने पर पैरों की घी से मालिश करने पर काफी फायदा होता है। अगर इस मालिश को देसी घी से किया जाए तो और भी अच्‍छा होता है। देसी घी से पैरों की मालिश करने पर तलवों की जलन कम होती है।

10. अगर एड़ियां फट रही हैं तो देसी घी और नमक की मालिश करने से ये समस्‍या दूर हो जाती है। कमर दर्द में भी पैरों की घी से मालिश करने पर आराम मिलता है।

11. जिन्हें माइग्रेन का दर्द रहता है वे लोग गाय के घी की दो-तीन बूंद नाक में डाले जिसे दर्द में राहत मिलती है।

12. जिनको ज़्यादा ठंड लगती है, वे गुनगुने घी से पैरों की मसाज करें। इससे ब्लड सर्क्यूलेशन बढ़ता है और सर्दी जुकाम से राहत मिलती है।

Read More: पानी पीने का सही समय व तरीका जानेंगे तो बीमार नहीं पड़ेंगे आप 

COMMENT