राजस्थान में घर-घर पहुंचाई जाएगी कोरोना उपचार किट, शादियों पर भी रोक लगाने का फैसला

Views : 899  |  3 minutes read
CM-Gehlot-Rajasthan

राजस्थान में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखकर राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व वाली कैबिनेट बैठक ने अहम फैसला लिया है। सरकार की ओर से राज्य में चल रहे ‘रेड अलर्ट जन अनुशासन पखवाड़ा’ को और अधिक सख्त करने का फैसला हुआ है। इस कैबिनेट बैठक में ‘रेड अलर्ट जन अनुशासन पखवाड़ा’ के दौरान शादियों पर रोक लगाने की सहमति बनी है। साथ ही इस दौरान जिलों में ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट लगाने का फैसला हुआ है।

राज्य में घर-घर कोरोना ट्रीटमेंट किट पहुंचाने का भी लिया फैसला

इसके अलावा कैबिनेट बैठक में राज्य में घर-घर कोरोना ट्रीटमेंट किट पहुंचाने का फैसला भी लिया गया है। गहलोत सरकार लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए पैरासिटामोल, लिवोसिट्राजिन सहित 5 तरह की दवाइयां देगी, जो कोरोना के हल्के लक्षण के समय मरीजों को दी जाती है। इस किट को प्राथमिकता के आधार पर उन घरों में भिजवाया जाएगा, जहां कोविड मरीज हैं या फिर होम आइसोलेशन में हैं। इसके अलावा उन इलाकों में भी प्राथमिकता से वितरित करवाया जाएगा, जहां ज्यादा कोविड-19 संक्रमित मरीज मिल रहे हैं।

24 घंटों में संक्रमण के 16,815 नए मामले सामने आए

स्वास्थ्य एवं चिकित्सा विभाग की जानकारी के अनुसार, राजस्थान में बुधवार को कोराना संक्रमण के 16,815 नए मामले सामने आए और संक्रमण से 155 मरीजों की मौत हो गई। आपको बता दें कि राज्य में अभी 1,96,683 कोरोना संक्रमित मरीज उपचाराधीन है। वहीं, इस वायरस से अब तक कुल 5,021 लोगों की जान जा चुकी है।

चिकित्सा विभाग के आंकडों के अनुसार, राज्य में बीते चौबीस घंटे में 16,815 और संक्रमित मिले हैं। इसमें जयपुर में 3301, उदयपुर में 1452, जोधपुर में 1401, अलवर में 901, गंगानगर में 836, कोटा में 678, बीकानेर में 609, हनुमानगढ में 602, सीकर में 561, चूरू में 529 नए रोगी शामिल हैं। जबकि बीते चौबीस घंटे में राज्य में कोरोना संक्रमित 17,022 मरीज ठीक हुए हैं।

राजस्थान सरकार ने 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं स्थगित की, 8वीं, 9वीं और 11वीं के छात्र होंगे प्रमोट

COMMENT