गहलोत सरकार ने राजस्थान बजट 2022-23 में की ये बड़ी घोषणाएं

Views : 849  |  3 minutes read
Rajasthan-Budget-2022-23

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बुधवार को राज्य विधानसभा में बजट 2022-23 पेश किया। इस सालाना बजट में उन्होंने आगामी वर्ष के लिए विभिन्न घोषणाएं कीं। सीएम गहलोत ने अपने बजट में शिक्षा और सरकारी भर्ती के लिए भी कई अहम घोषणाएं कीं। राज्य में विभिन्न स्कूल व कॉलेजों के निर्माण से लेकर 1 लाख नई सरकारी नौकरी समेत कई अहम ऐलान मुख्यमंत्री ने अपने बजट भाषण में किए। हम आपको बता रहे हैं कि गहलोत सरकार ने राजस्थान बजट 2022-23 में क्या-क्या बड़ी घोषणाएं की हैं…

Rajasthan Budget 2022-23: रोजगार क्षेत्र के लिए अहम घोषणाएं

राज्य में जल्द ही एक लाख नई भर्ती की जाएगी।
10,000 अंग्रेजी माध्यम के शिक्षकों की भर्ती होगी।
पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए 500 पर्यटक मित्रो की भर्ती होगी।
सीआईएसएफ की तर्ज पर राज्य में आरआईएसएफ का गठन किया जाएगा, दो हजार कर्मियों की भर्ती होगी।
किसी अन्य राज्य में नौकरी कर रहे हैं पदक विजेता खिलाड़ी को राजस्थान में नियुक्ति देने का प्रावधान होगा।
भर्ती परीक्षाओं में नकल को रोकने के लिए एसओजी में एंटी चीटिंग सेल का गठन होगा।
200 नए खाद्य सुरक्षा अधिकारियों की होगी भर्ती।
इंदिरा गांधी शहरी रोजगार गारंटी योजना की घोषणा, प्रति वर्ष 100 दिवस का रोजगार।

गहलोत सरकार ने शिक्षा क्षेत्र के लिए की अहम घोषणाएं

36 कन्या महाविद्यालय खोलने की घोषणा।
सभी सेकेंडरी स्कुल सीनियर सेकेंडरी स्कूल में होंगे क्रमोन्नत।
इंग्लिश मीडियम स्कूलों के लिए अलग से कैडर बनेगा।
2000 इंग्लिश मीडियम स्कूल खोले जाएंगे।
18 जिलों में नर्सिंग कॉलेज खुलेंगे।
जयपुर कोटा और बीकानेर मेडिकल कॉलेज में पीजी छात्रावासों का तोहफा।
बीकानेर भरतपुर और कोटा में विज्ञान केंद्र स्थापित होंगे।
सावित्रीबाई फुले वाचनालय खुलेंगे, 15000 छात्रों को कोचिंग दी जाएगी।
500 मदरसों में स्मार्ट क्लास रूम बनेंगे।
दिव्यांगों के लिए जामडोली में बाबा आमटे विश्वविद्यालय बनेगा।
जोधपुर में जनजातीय आवासीय विद्यालय की स्थापना होगी।
बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए बालिका विद्यालयों को क्रमोन्नत किया जाएगा।
बालिका शिक्षा की बढ़ोतरी के लिए प्रदेश में सावित्रीबाई बालिका छात्रावास खोले जाएंगे।
7 अल्पसंख्यक बालक बालिका आवासीय भवन बनेंगे।
3820 सेकेंडरी विद्यालयों को सीनियर सेकेंडरी विद्यालयों में क्रमोन्नत किया जाएगा।
JLN मार्ग पर स्थित सभी शैक्षणिक संस्थानों को हब के रूप में विकसित किया जाएगा।
जयपुर में रोड सेफ्टी इंस्टीट्यूट खुलेगा।
सभी सेकेंडरी स्कुलो को सीनियर सेकेंडरी स्कूल में क्रमोन्नत होंगे।
जयपुर, उदयपुर, कोटा में राजीव गांधी नॉलेज हब बनेगी, इस पर 2-2 करोड़ रुपए की लागत आएगी।
कोरोना काल में शिक्षा में नुकसान की भरपाई के लिए 3 महीने का ब्रिज कोर्स विद्यार्थियों के लिए होगा।
जोधपुर में नया डेंटल कॉलेज बनेगा।

रीट परीक्षा को लेकर मुख्यमंत्री ने की यह घोषणा

मुख्यमंत्री ने अपने बजट अभिभाषण में रीट परीक्षा को लेकर भी घोषणा की। उन्होंने बताया कि रद्द की गई रीट परीक्षा का आयोजन जुलाई महीने में किया जाएगा। इसके लिए सीटों की संख्या भी 32 हजार से बढ़ाकर 62 हजार कर दी गई है। वहीं, जिन उम्मीदवारों ने पहले इस परीक्षा के लिए आवेदन किया था, उन्हें दोबारा आवेदन शुल्क नहीं जमा करना पड़ेगा।

पुरानी पेंशन योजना बहाल करने समेत अन्य घोषणाएं

1 जनवरी 2004 और उसके बाद नियुक्त हुए कर्मचारियों के लिए पुरानी पेंशन योजना बहाल करने की घोषणा।
आंगनबाड़ी कार्मिकों का मानदेय 20 फीसदी बढ़ाया गया।
वंचित कार्मिको को सातवें वेतन आयोग का लाभ देने की घोषणा।

Read Also: जानिए आम बजट 2022-23 में क्या सस्ता और क्या हुआ महंगा

COMMENT