कोरोना: केंद्र सरकार ने पीपीएफ समेत सभी सेविंग स्कीम की ब्याज दरों में की इतनी कटौती

Views : 2028  |  3 minutes read
savings-scheme-interest-rates-cut

कोरोना वायरस महामारी के लगातार बढ़ते प्रकोप के कारण हाल ही में भारतीय रिजर्व बैंक ने रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट में कटौती की थी। इसके बाद अब केंद्र सरकार ने छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दर में कटौती करते हुए आम आदमी को झटका दिया है। हालांकि, सरकार ने ये फैसला ​कोरोना से बिगड़ती वर्तमान स्थितियों को ध्यान में रखते हुए लिया है।

तिमाही में लागू होगी ब्याज दर पर कटौती

दरअसल, केंद्र सरकार ने पब्लिक प्रोविडेंट फंड यानी पीपीएफ, नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट यानी एनएससी और सुकन्या समृद्धि योजना जैसी स्मॉल सेविंग स्कीम पर ब्याज दर घटाई है। जानकारी के अनुसार, सरकार ने स्मॉल सेविंग स्कीम की ब्याज दर में 0.70 फीसदी से 1.40 फीसदी तक की कटौती कर दी है। छोटी बचत योजनाओं में घटी हुई यह ब्याज दर अप्रैल-जून 2020 की तिमाही में लागू होगी।

पीपीएफ के अलावा किसान विकास पत्र और सुकन्या समृद्धि योजना जैसी स्मॉल सेविंग स्कीम में भी अब ब्याज दर कम मिलेगी। केंद्र सरकार ने पीपीएफ पर ब्याज दर में 0.80 फीसद की कटौती की है। इसके बाद अब अप्रैल-जून तिमाही के दौरान पीपीएफ पर 7.1 फीसदी का ब्याज मिलेगा।

Read More: कोरोना वायरस के टेस्ट ​के लिए अब घर से करा सकते हैं ऑनलाइन बुकिंग

सुकन्या समृद्धि योजना में भी हुई कटौती

केंद्र सरकार ने इस तिमाही में किसान विकास पत्र पर 0.70 फीसद ब्याज दर घटाकर 6.9 फीसदी कर दी है। नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट पर ब्याज दर में 1.10 फीसद की बड़ी कटौती की गई है। अब एनएसएस स्कीम में निवेश पर निवेशकों को 6.8 फीसद की दर से ब्याज मिलेगा। इसके अलावा सरकार ने सुकन्या समृद्धि योजना में निवेश पर ब्याज दर 8.4 फीसदी से घटाकर 7.6 फीसदी कर दी है। योजना में 0.8 फीसदी की कटौती की है।

COMMENT