एशियाई चैम्पियनशिप: भारतीय महिला पहलवान दिव्या, पिंकी और सरिता ने जीते अपने-अपने वर्ग में गोल्ड मेडल

Views : 1231  |  3 Minute read
Divya Kakran

भारत की मेजबानी में नई दिल्ली में चल रही एशियाई चैम्पियनशिप में भारतीय महिला पहलवान दिव्या काकरान ने स्वर्ण पदक जीत लिया है। वह टूर्नामेंट में स्वर्ण पदक जीतने वाली दूसरी भारतीय महिला पहलवान बन गईं। उन्होंने अपने सारे मुकाबलों में अपने प्रतिद्वंद्वियों को चित किया। उन्हें इन मुकाबलों में जापान की जूनियर विश्व चैम्पियन नरूहा मातसुयुकी को हराना में सबसे ज्यादा संघर्ष करना पड़ा। उनसे पहले नवजोत कौर एशियाई चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला पहलवान बनी थीं।

यह दिन भारतीय पहलवानों के लिए कामयाबी वाला रहा, क्योंकि पांच पहलवानों में से चार ने फाइनल में जगह बनाई। इनमें से दिव्या (68 किग्रा), पिंकी (55 किग्रा) और सरिता (59 किग्रा) ने स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया। वहीं निर्मला देवी को 50 किग्रा में रजत पदक से संतोष करना पड़ा, जबकि किरण 76 किग्रा वर्ग की एकमात्र पहलवान रहीं जो पदक हासिल नहीं कर सकीं।

दिव्या दूसरी गोल्ड मेडल जीतने वाली भारतीय महिला पहलवान

एशियाई खेलों में कांस्य पदक ​विजेता दिव्या काकरान ने 20 फरवरी को एशियाई चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीता। वह ऐसा करने वाली दूसरी भारतीय महिला पहलवान बन गई। दिव्या ने 68 किग्रा वर्ग में शानदार प्रदर्शन करते हुए अपने सभी चार मुकाबले जीते, ये मुकाबले राउंड रॉबिन प्रारूप में खेला गए। बता दें दिव्या से पहले एशियाई चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीतने वाली भारतीय महिला नवजोत कौर थी। नवजोत ने वर्ष 2018 में किर्गिस्तान के बिशकेक में 65 किग्रा का खिताब जीता था।

दिव्या ने 68 वर्ग में अपने स्वर्णिम सफर शुरू करते हुए पहले कजाखस्तान की एलबिना कैरजेलिनोवा को हराया। अगले राउंड में मंगोलिया की डेलगेरमा एंखसाइखान को पराजित किया। तीसरे राउंड में दिव्या का सामना उज्बेकिस्तान की एजोडा एसबर्जेनोवा से था और उन्होंने 4-0 की बढ़त बनाने के बाद अपनी प्रतिद्वंद्वी को महज 27 सेकंड में मात दी।

उनका अंतिम और चौथा राउंड जापान की जूनियर विश्व चैम्पियन से था। उसके खिलाफ दिव्या ने 4-0 की बढ़त हासिल की, लेकिन जापानी पहलवान ने दूसरे पीरियड में मजबूत वापसी की और भारतीय पहलवान के बाएं पैर पर हमला किया, लेकिन उन्होंने अंक दाएं पैर पर आक्रमण से जुटाए, जिससे स्कोर 4-4 हो गया। हालांकि अंत में दिव्या ने अपने प्रतिद्वंद्वी को चित कर दिया। जिसके बाद रेफरी ने अधिकारिक रूप से उन्हें 6-4 से विजेता घोषित किया।

इन महिलाओं ने भी जीते स्वर्ण पदक

गुरुवार 20 फरवरी को केडी जाधव इंडोर स्टेडियम में भारतीय महिला पहलवान पिंकी ने 55 किग्रा फाइनल में मंगोलिया की डुलगुन बोलोरमा को हराकर गोल्ड मेडल जीता। पिंकी ने खिताबी मुकाबले में बोलोरमा को 2-1 से हराया। पिंकी एशियाई चैम्पियनशिप के इतिहास में गोल्ड मेडल जीतने वाली तीसरी भारतीय महिला बनीं।

वहीं महिला पहलवान के 59 किग्रा वर्ग में सरिता मोर ने भी इस चैम्पियनशिप के फाइनल में मंगोलिया की बातसेतसेग को 3-2 से हराकर स्वर्ण पदक जीता। निर्मला देवी को महिला 50 किग्रा फाइनल में जापान की मिहो इगारशी के खिलाफ करीबी मुकाबले में हार के बाद रजत पदक से संतोष करना पड़ा। राष्ट्रमंडल खेल 2010 की रजत पदक विजेता निर्मला को खिताबी मुकाबले में इगारशी के खिलाफ 2-3 से शिकस्त झेलनी पड़ी।

COMMENT