क्या 90 हजार करोड़ के कर्ज वाला वीडियोकॉन ग्रुप मामला देश का सबसे बड़ा दिवालिया केस है!

Views : 1097  |  0 minutes read
chaltapurza.com

देश के बहुचर्चित वीडियोकॉन ग्रुप मामले में ताजा अपडेट यह है कि यह देश के इतिहास का सबसे बड़ा दिवालिया (कॉरपोरेट बैंकरप्सी) मामला हो सकता है। दरअसल, कर्ज में डूबे वीडियोकॉन ग्रुप पर अब बैंकों और दूसरे कर्जदाताओं के करीब 90 हजार करोड़ रुपए का कर्ज़ बकाया है। इसमें वीडियोकॉन ग्रुप की पांच कंपनियों द्वारा आईसीआईसीआई बैंक से अप्रैल 2012 में लिया गया 3250 करोड़ रुपए का लोन जिसमें से 2810 करोड़ रुपए नहीं चुकाए थे वह भी शामिल हैं। एक न्यूज़ एजेंसी की ख़बरों के अनुसार, उसने आधिकारिक सूत्रों के हवाले ​से गुरुवार को बताया है कि वीडियोकॉन ग्रुप वाला मामला भारतीय बैंकिंग इतिहास का सबसे बड़ा दिवालिया मामला हो सकता है।

chaltapurza.com

वीडियोकॉन समूह की दो कंपनियों पर ही 86 हजार करोड़ बकाया

वीडियोकॉन ग्रुप की 2 कंपनियों पर बैंकों का करीब 86125.68 करोड़ रुपए बकाया बताया जाता है। समूह की दो प्रमुख कंपनियों वीआईएल यानी वीडियोकॉन इंडस्ट्रीज लिमिटेड और वीटीएल यानी वीडियोकॉन टेलीकम्युनिकेशन लिमिटेड पर एसबीआई का 59,451.87 करोड़ रुपए और अन्य बैंकों का 26,673.81 करोड़ रुपए का कर्ज बकाया है। इसके अलावा 731 ऑपरेशनल क्रेडिटर्स की राशि अलग से बकाया बताई जाती है। वीआईएल पर ऑपरेशनल क्रेडिटर्स के 3111 करोड़ 79 लाख 71 हजार 29 रुपए बाकी हैं। जबकि वीटीएल पर 1266 करोड़ 99 लाख 78 हजार 507 रुपए बकाया हैं।

Read: पीएम मोदी के सामने वाराणसी से चुनाव नहीं लड़ेगी प्रियंका गांधी, क्या है इसके पीछे की वजह?

वीडियोकॉन ग्रुप पर एसबीआई बैंक का सबसे ज्यादा बकाया

पिछले साल वीडियोकॉन ग्रुप द्वारा लोन चुकाने में डिफॉल्ट करने पर एसबीआई ने नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल में दिवालिया प्रक्रिया शुरू करा दी थी। आईबीसी यानी इन्सॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी कोड के नियमों के अनुसार, कंपनी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर सस्पेंड कर दिए गए थे। वीडियोकॉन ग्रुप की वीआईएल कंपनी के 54 कर्जदाताओं में 34 बैंक भी शामिल हैं। इन बैंकों में सबसे ज्यादा लोन एसबीआई का 11,175.25 करोड़ रुपए बकाया हैं। वहीं, ग्रुप की दूसरी कंपनी वीटीएल के 34 कर्जदाताओं में भी एसबीआई के सबसे ज्यादा 4,605.15 करोड़ रुपए बकाया हैं। वीआईएल को कर्ज देने वाला दूसरा सबसे बड़ा कर्जदाता बैंक आईडीबीआई है। इस बैंक के ग्रुप पर 9,561.67 करोड़ रुपए बकाया हैं। इसके अलावा दूसरी कंपनी वीटीएल का दूसरा बड़ा बकायादार बैंक सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया है। सीबीआई का वीडियोकॉन ग्रुप पर करीब 3,073.16 करोड़ रुपए बकाया होने का दावा किया जा रहा है। इसके बाद नंबर आता है आईसीआईसीआई बैंक के कर्ज़ का। आईसीआईसीआई का वीआईएल पर 3,318.08 करोड़ और वीटीएल पर 1,439 करोड़ रुपए का कर्ज़ बकाया हैं।

chaltapurza.com

उल्लेखनीय है कि वीडियोकॉन ग्रुप की कंपनियों को लोन देने के मामले में सीबीआई ने इस साल जनवरी में आईसीआईसीआई बैंक की पूर्व एमडी और सीईओ चंदा कोचर, उनके पति दीपक कोचर, वीडियोकॉन ग्रुप के प्रमोटर वेणुगोपाल धूत और अन्य लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज ली थी। वीडियोकॉन ग्रुप को लोन उपलब्ध कराते समय आईसीआईसीआई बैंक की सीईओ रही चंदा कोचर पर उनके पति की शेयर धारक कंपनी वीडियोकॉन को फर्जी तरीके से लाभ पहुंचाने के आरोप लगे हैं। इसके बाद कोचर से बैंक ने इस्तीफा ले लिया था।

COMMENT