बंगाल विधानसभा चुनाव में जीते भाजपा के दो सांसदों ने विधायक पद से दिया इस्तीफा

Views : 1801  |  3 minutes read
Bengal-BJP-MLA-Resign

हाल में पश्चिम बंगाल में हुए विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने अच्छा प्रदर्शन करते हुए तीन से 77 सीटों पर पहुंच गई। इस बार के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने सांसदों और मंत्रियों को भी उम्मीदवार बनाकर मैदान में उतारा था। इनमें से पार्टी के दो सांसद निशिथ प्रमाणिक और जगन्नाथ सरकार क्रमशः दिनहाटा और शांतिपुर विधानसभा क्षेत्र से विधायक निर्वाचित हुए हैं। लेकिन अब दोनों नेता ने पार्टी के निर्देश पर विधायक पद से इस्तीफा दे दिया है। दोनों ने बुधवार को विधानसभा अध्यक्ष बिमान बनर्जी को अपना इस्तीफा पत्र सौंपा।

सांसदों ने पार्टी नेतृत्व के निर्देश पर विधायक पद से इस्तीफा दिया

बता दें कि साल 2019 के आम चुनाव में भाजपा के टिकट पर जीतकर लोकसभा पहुंचे निशिथ प्रमाणिक व जगन्नाथ सरकार दोनों ने हाल ही में संपन्न बंगाल विधानसभा चुनाव में भी जीत हासिल की थी। कूचबिहार सांसद प्रमाणिक दिनहाटा से और रनघाट सांसद जगन्नाथ सरकार ने शांतिपुर से विधानसभा चुनाव जीता। हालांकि, प्रमाणिक मात्र 57 वोट से जीते सके थे, वहीं सरकार ने 16 हजार से ज्यादा मतों से जीत हासिल की थी। अब दोनों सांसदों ने पार्टी नेतृत्व के निर्देश पर विधायक पद से इस्तीफा दे दिया है। क्योंकि कानून के अनुसार ये नेता दोनों पद नहीं रख सकते थे, इसलिए यह कदम उठाया गया।निशिथ प्रमाणिक ने कहा, ‘संवैधानिक प्रावधानों के अनुसार कोई भी नेता एक साथ सांसद व विधायक नहीं रह सकता। इसलिए हमने विधानसभा की सदस्यता छोड़ दी।’

रिक्त हुई सीटों पर होंगे उपचुनाव, ममता भी लड़ेगी

पश्चिम बंगाल विधानसभा स्पीकर बिमान बनर्जी के अनुसार इन सीटों को रिक्त घोषित कर निर्वाचन आयोग को सूचना दी जाएगी। इसके बाद इन सीटों पर उपचुनाव होगा। बता दें कि वर्तमान मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी नंदीग्राम में भाजपा के सुवेंदु अधिकारी से हार गई, इसलिए उन्हें भी छह माह में चुनाव जीतकर विधानसभा में जाना है। इसलिए इन रिक्त हुई सीटों पर होने वाले उपचुनाव में ममता बनर्जी भी दांव लगा सकती है या उनके लिए टीएमसी कोई अन्य सीट खाली करा सकती है।

विधानसभा में भाजपा विधायकों की संख्या घटकर 75

उल्लेखनीय है कि भाजपा ने हालिया पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में अपने चार सांसदों को चुनाव मैदान में उतारा था। इनमें केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो, सांसद लॉकेट चटर्जी, निशिथ प्रमाणिक और जगन्नाथ सरकार शामिल थे। इनमें से बाबुल सुप्रियो और चटर्जी चुनाव हार गए। दो नव निर्वाचित विधायकों के इस्तीफे के साथ अब बंगाल में भाजपा के विधायकों की संख्या 75 रह गई है। 294 सदस्यीय बंगाल विधानसभा में भाजपा मुख्य विपक्षी दल बनकर उभरी है। इस बार के चुनाव में ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस ने लगातार तीसरी बार सत्ता हासिल की है। टीएमसी ने विधानसभा चुनाव में कुल 213 सीटें जीतीं।

Read More: ममता सरकार में मंत्री बने पूर्व क्रिकेटर मनोज तिवारी, उत्तर प्रदेश से हैं ये ख़ास नाता

COMMENT