भारत, रूस और चीन के विदेश मंत्रियों के बीच 22 जून को होगी त्रिपक्षीय वार्ता

Views : 1302  |  3 minutes read
Foreign-Minister-of-India

भारत, रूस और चीन के विदेश मंत्रियों के बीच जल्द ही एक त्रिपक्षीय वार्ता हो सकती है। जानकारी के अनुसार, भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर 22 जून को चीन और रूस के विदेश मंत्रियों के साथ त्रिपक्षीय वार्ता कर सकते हैं। रूस की पहल पर बुलाई जा रही इस बैठक में कोरोनो वायरस महामारी से निपटने और सामान्य सुरक्षा के खतरों से निपटने के तरीकों जैसे कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर विचार-विमर्श किया जाएगा। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि तीनों देशों के बीच यह बैठक पहले मार्च में होने वाली थी, लेकिन वैश्विक कोरोना महामारी के कारण इसे स्थगित कर दिया गया था।

बैठक में भारत और चीन सीमा विवाद पर नहीं होगी चर्चा

इस बैठक के दौरान भारत और चीन के बीच चल रहे सीमा विवाद पर चर्चा होने की संभावना नहीं है, क्योंकि आम तौर पर त्रिपक्षीय प्रारूप में द्विपक्षीय मुद्दों पर चर्चा नहीं की जाती है। वरिष्ठ राजनयिक ने नाम न प्रकाशित करने की शर्त पर कहा कि यह तीनों देशों के लिए एक साथ आने और क्षेत्रीय स्थिरता में योगदान करने के लिए हमारे विचारों को एक साथ करने के लिए क्षेत्रीय मुद्दों पर चर्चा करने का एक अच्छा अवसर होगा।

आपको बता दें कि पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के पास कुछ क्षेत्रों में पांच सप्ताह से ज्यादा समय से भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच तनाव का माहौल है। हालांकि, दोनों देश विवाद को सुलझाने के लिए सैन्य और राजनयिक स्तर पर बातचीत कर रहे हैं। रूस इस मामले में पहले ही कह चुका है कि भारत और चीन को ये सीमा विवाद आपसी बातचीत के जरिए सुलझाना चाहिए।

Read More: दिल्ली में फिर से लॉकडाउन नहीं लगाया जाएगा: सीएम अरविंद केजरीवाल

रूस ने कहा था कि क्षेत्रीय स्थिरता के लिए दोनों देशों के बीच रचनात्मक संबंध बेहद महत्वपूर्ण हैं। रूस के उप मिशन प्रमुख रोमन बबुश्किन ने इस महीने की शुरुआत में कहा था कि हमारे भारतीय और चीनी मित्रों के बीच रचनात्मकता संबंध स्थिरता और सतत विकास पर क्षेत्रीय संवाद को बढ़ावा देने के लिए अहम हैं।

COMMENT