राजस्थान में अब टिडि्डयों पर वायुसेना के तीन एमआई-17 हेलिकॉप्टर करेंगे हवाई हमला

Views : 1234  |  3 minutes read
IAF-Mi-17-Rajasthan

राजस्थान ​समेत देश के कई राज्य टिडि्डयों से परेशान हैं। राजस्थान में टिडि्डयों के सफाये के लिए अब भारतीय वायुसेना मदद के लिए आगे आई है। जानकारी के अनुसार, इंडियन एयरफोर्स ने अपने तीन एमआई-17 हेलिकॉप्टरों को मॉडिफाइड कर टिड्‌डी पर स्प्रे करने को तैयार कर दिया है। यह हेलिकॉप्टार महज 40 मिनट में 750 हेक्टेयर क्षेत्र में 800 लीटर कीटनाशक का छिड़काव कर देगा। इन तीन में से एक हेलिकॉप्टर को जोधपुर एयरबेस पर तैनात किया जाएगा। यहां टिड्‌डी दलों के भारतीय सीमा में प्रवेश करते ही यह हेलिकॉप्टर हमला करने के लिए फौरन उड़ान भरेगा।

एयरफोर्स के इंजीनियरों ने चंडीगढ़ में तैयार किए हेलिकॉप्टर

आपको बता दें कि इंडियन एयरफोर्स ने अपने एमआई-17 हेलिकॉप्टरों में कुछ सुधार किए हैं। इनमें पंप समेत कीटनाशक स्प्रे का टैंक और नोजल लगाने के लिए ब्रिटेन की एक कंपनी के साथ कुछ माह पहले करार किया गया था, लेकिन कोरोना के कारण कंपनी सेवाएं नहीं दे पाई। इसके बाद भारतीय वायुसेना के इंजीनियरों ने अपने स्तर पर चंडीगढ़ में तीन हेलिकॉप्टरों को तैयार किया। इनका वहां टेस्ट पूरा हो चुका है। शीघ्र ही एक हेलिकॉप्टर जोधपुर भेजा जाएगा। यह हेलिकॉप्टर टिड्‌डी नियंत्रण विभाग के साथ मिलकर उनके बताए गए इलाकों में टिडि्डयों का खात्मा करेगा। इसके लिए कीटनाशक टिड्‌डी नियंत्रण विभाग उपलब्ध कराएगा।

Read More: राजस्थान के ग्रामीण क्षेत्रों में एक जुलाई से खुलेंगे धार्मिक और उपासना स्थल

देश में 12 ड्रोन टिडि्डयों को मारने का काम कर रहे: कृषि मंत्री

गौरतलब है कि केंद्रीय कृषि मंत्रालय ने देशभर के लिए पहली बार निजी कंपनी के पांच हेलिकॉप्टर किराए पर लिए हैं। इन हेलिकॉप्टर को विशेष रूप से तैयार किया गया है। एक हेलिकॉप्टर बाड़मेर के उत्तरलाई एयरबेस पर तैनात रहेगा। दरअसल, जरूरत के आधार पर इसे बाड़मेर के साथ ही जैसलमेर, जोधपुर, बीकानेर और नागौर जिलों में टिड्‌डी नियंत्रण के लिए काम में लिया जाएगा। मंगलवार को केंद्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर ने नोएडा से बाड़मेर के लिए एक हेलिकॉप्टर को रवाना किया। देश में इस समय 12 ड्रोन टिडि्डयों को मारने के लिए काम कर रहे हैं। इसके अलावा ट्रैक्टर पर कंप्रेशर स्प्रे की सहायता से टिडि्डयों का खात्मा किया जा रहा है।

COMMENT