जानिए 5 मार्च के दिन घटित ऐतिहासिक व महत्त्वपूर्ण घटनाएं

Views : 2646  |  3 minutes read
5 march history

इतिहास में 5 मार्च का दिन कई महत्त्वपूर्ण व ऐतिहासिक घटनाओं के लिए जाना जाता है। इस दिन भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण की स्थापना की गई थी। वहीं, प्रसिद्ध भारतीय क्लासिकल संगीत की गायिका गंगूबाई हंगल की जन्म जयंती भी इसी दिन आती है। ऐसे में आइए जानते हैं इस दिन के इतिहास के बारे में…

पहली बार यूरोप में करेंसी आज ही के दिन वर्ष 1691 में छपी थी। यह काग़ज़ी मुद्रा स्वीडन के बैंक ने जारी की थी। इससे पहले तक स्वीडन में सिक्का चलता था जो चौकोर और आकार में बड़ा होता था।

राजस्थान के आमेर राजवंश की गद्दी पर वर्ष 1699 में महाराजा जयसिंह को बैठाया गया था।

भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण (जीएसआई) की स्थापना वर्ष 1851 में की गई। इसका कार्य भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण और अध्ययन करना है।

आज ही के दिन महात्मा गांधी ने वर्ष 1931 में ‘सविनय अवज्ञा आंदोलन’ को वापस लिया था।

5 मार्च को भारतीय क्रिकेट टीम ने वर्ष 2019 में वनडे में अपनी 500वीं जीत दर्ज की। भारत ऐसा करने वाला ऑस्ट्रेलिया के बाद दूसरा देश बना।

5 मार्च को जन्मी कुछ प्रसिद्ध हस्तियां

भारतीय क्रांतिकारी भगत सिंह की बहन और स्वतंत्रता सेनानी सुशीला दीदी का जन्म वर्ष 1905 को पंजाब में हुआ। उन्हें आजादी के दौरान भगत सिंह की क्रांतिकारी गतिविधियों में सहयोग करने के लिए याद किया जाता है।

प्रसिद्ध गायिका गंगूबाई हंगल का जन्म वर्ष 1913 को हुआ। उन्होंने भारतीय शास्त्रीय संगीत को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाया।

ओडिशा के प्रसिद्ध नेता और पूर्व मुख्यमंत्री बीजू पटनायक का जन्म वर्ष 1916 में हुआ।

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के नेता वसंत पुरुषोत्तम साठे का जन्म 1925 नासिक में हुआ था। वह 5 बार लोकसभा के सदस्य रहे।

हिंदी के रचनाकार सोम ठाकुर का जन्म वर्ष 1934 को हुआ। वह मुक्तक, ब्रजभाषा के छंद और बेमिसाल लोक गीतों के वरिष्ठ एवं लोकप्रिय रचनाकार हैं। वे बड़े ही सहज, सरल व संवेदनशील व्यक्तित्व के कवि है।

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का जन्म वर्ष 1959 को बुधनी में हुआ था। वह वर्तमान में एमपी के चौथी बार मुख्यमंत्री हैं। शिवराज मध्यप्रदेश में ‘मामा’ उपनाम से भी जाने जाते हैं।

5 मार्च को अलविदा कहने वाली हस्तियां

सोवियत संघ के तानाशाह जोसेफ स्टालिन का निधन 5 मार्च को वर्ष 1953 में हुआ था। वह उस दौर में 29 साल तक सत्ता पर काबिज रहे।

भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के सेनानी, क्रांतिकारी तथा गदर पार्टी के संस्थापकों में से एक बाबा पृथ्वी सिंह आजाद का निधन वर्ष 1989 में हुआ। उन्हें वर्ष 1977 में भारत सरकार द्वारा सार्वजनिक उपक्रम के क्षेत्र में ‘पद्म भूषण’ से सम्मानित किया गया था।

भारतीय उद्योगपति गंगा प्रसाद बिड़ला का निधन वर्ष 2010 में इसी दिन हुआ। बिड़ला को उनके योगदान के लिए भारत सरकार ने ‘पद्म​ विभूषण’ अवॉर्ड से नवाज़ा था।

Read More: जानिए 4 मार्च के दिन अबतक घटित इतिहास की महत्त्वपूर्ण घटनाएं

COMMENT