कमर्शियल अंतरराष्ट्रीय हवाई यात्रा सेवा पर 15 जुलाई तक लागू रहेगा प्रतिबंध

Views : 667  |  3 minutes read
DGCA-Air-Travel-Service-Ban

देश में करीब दो महीने के पूर्ण लॉकडाउन के बावजूद कोरोना संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। कोरोना की इस स्थिति को देखते हुए केंद्र सरकार ने अभी अंतरराष्ट्रीय हवाई यात्रा सेवा को बंद रखने का फैसला किया है। शुक्रवार को जारी एक आदेश के अनुसार कमर्शियल अंतरराष्ट्रीय हवाई यात्रा सेवा पर 15 जुलाई तक प्रतिबंध लागू रहेगा। हालांकि, डीजीसीए ने यह भी कहा है कि स्थितियों के अनुसार चयनित मार्गों पर कुछ अंतरराष्ट्रीय हवाई सेवाओं को संचालन की अनुमति दी जा सकती है।

कारगो ऑपरेशन और अनुमति प्राप्त उड़ानों को रहेगी छूट

जानकारी के अनुसार, यह प्रतिबंध कारगो ऑपरेशन (माल ढुलाई) और डीजीसीए (नागर विमानन महानिदेशालय) से अनुमति प्राप्त उड़ानों पर लागू नहीं होगा। आपको बता दें कि देश में वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए 25 मार्च से देशभर में लॉकडाउन लगाया गया था। इस दौरान रेल और विमान सहित सभी प्रकार के परिवहन पर रोक लगा दी गई थी। हालांकि, 31 मई के बाद सरकार ने लॉकडाउन में चरणबद्ध तरीके से ढील देनी शुरू की, जिसके तहत घरेलू उड़ानों को भी अनुमति दी गई।

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने पिछले दिनों कहा था कि अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को लेकर केंद्र सरकार जुलाई में कोई फैसला कर सकती है। उन्होंने कहा था कि अगर कोरोना वायरस संक्रमण अनुमान के मुताबिक फैलता है और उड़ानों को संचालित करने की व्यवस्था और संबंधित देश तैयार हो जाते हैं तो केंद्र सरकार जुलाई में इसे लेकर कोई फैसला करेगी।

Read More: पश्चिम बंगाल सरकार ने राज्य में 31 जुलाई तक बढ़ाया लॉकडाउन

12 अगस्त तक सामान्य ट्रेनों का नहीं होगा संचालन

आपको जानकारी के लिए बता दें कि इससे पहले गुरुवार को रेलवे बोर्ड ने देशभर में ट्रेनों के संचालन पर लगी रोक को आगे बढ़ाने का ऐलान किया था। रेलवे ने कहा था कि सभी मेल, एक्सप्रेस, पैसेंजर, लोकल और ईएमयू ट्रेनों का संचालन 12 अगस्त तक नहीं किया जाएगा। रेलवे ने यह भी कहा था कि अगर 12 अगस्त तक किसी व्यक्ति का सामान्य ट्रेन में आरक्षण है तो उसे टिकट की पूरी कीमत वापस कर दी जाएगी।

COMMENT