तरनजीत सिंह संधू अमेरिका में भारत के नए राजदूत नियुक्त, जानिए उनके बारे में..

Views : 961  |  3 minutes read
taranjit-singh-sandhu

वरिष्ठ राजनयिक तरनजीत सिंह संधू (Taranjit Singh Sandhu) अमेरिका में भारत के नए राजदूत होंगे। विदेश मंत्रालय की ओर से मंगलवार को दी गई जानकारी के अनुसार तरनजीत सिंह संधू को यूएसए में भारत का नया राजदूत नियुक्त किया गया है। भारतीय विदेश सेवा (IFS) के 1988 बैच के अधिकारी संधू वर्तमान में श्रीलंका में भारत के उच्चायुक्त पद पर हैं। अब वे वॉशिंगटन में हर्षवर्धन श्रृंगला की जगह लेंगे। अमेरिका में भारत के राजदूत श्रृंगला को नया विदेश सचिव बनाया गया है। हर्षवर्धन श्रृंगला वर्तमान विदेश सचिव विजय गोखले का स्थान लेंगे। श्रृंगला 29 जनवरी को विदेश सचिव का पदभार संभालेंगे।

taranjit-singh-sandhu

विदेश सेवा में काफ़ी अनुभवी है संधू

वर्ष 1988 में भारतीय विदेश सेवा में शामिल हुए आईएफएस अधिकारी तरनजीत सिंह संधू 32 साल का लंबा अनुभव रखते हैं। अपने कार्यकाल के दौरान वह अमेरिका, रूस, जर्मनी, श्रीलंका सहित कई अन्य देशों में सेवाएं दे चुके हैं। अमेरिका में भारत के नए राजदूत बनाए गए तरनजीत सिंह संधू वॉशिंगटन डीसी के कूटनयिक गलियारों के लिए परिचित चेहरा हैं। इससे पहले वे 2013 से 2017 तक डिप्टी चीफ ऑफ मिशन इन वॉशिंगटन की जिम्मेदारी निभा चुके हैं। वॉशिंगटन में भारतीय मिशन के तहत संधू साल 1997 से 2000 में भी वहां तैनात रहे थे। उनके बारे में माना जाता है कि वे वॉशिंगटन की कार्य संस्कृति से अच्छी तरह परिचित हैं।

taranjit-singh-sandhu

अब तक का कॅरियर एक नजर में..

जनवरी 2017 – जनवरी 2020 तरनजीत सिंह संधू श्रीलंका में भारत के उच्चायुक्त

जुलाई 2013 – जनवरी 2017: वाशिंगटन डी सी में भारतीय मिशन के डिप्टी चीफ

सितंबर 2011 – जुलाई 2013: फ्रेंकफर्ट में कौंसिल जनरल आफ इण्डिया

मार्च 2009 – अगस्त 2011: विदेश मंत्रालय में संयुक्त सचिव यूनाइटेड नेशन और संयुक्त सचिव (प्रशासन)

जुलाई 2005 – फरवरी 2009: यूनाइटेड नेशन में भारतीय मिशन में स्थाई तैनाती

1997 – 2000 वाशिंगटन डी सी में भारतीय दूतावास में सचिव (राजनीतिक)

दिसंबर 2000 – सितंबर 2004: कोलंबो में इंडियन हाई कमीशन के राजनीतिक विंग के प्रमुख

1990 – 1992: सोवियत यूनियन में तृतीय सचिव (राजनीतिक)/द्वितीय सचिव (कमर्शियल)

1992 – 1994: कीव में भारतीय दूतावास में राजनीतिक और प्रशासनिक विंग के प्रमुख

1994 – 1997: विदेश मंत्रालय में मीडिया के साथ तालमेल के लिए बतौर ऑफिसर ऑन स्पेशल ड्यूटी तैनाती।

Read More: ‘संविधान’ शब्द को मिला वर्ष 2019 का सर्वश्रेष्ठ ऑक्सफोर्ड हिंदी शब्द का खिताब

 

COMMENT