खेल मंत्रालय ने राष्ट्रीय खेल पुरस्कारों के लिए पहली बार मंगाए ऑनलाइन आवेदन

Views : 1162  |  3 minutes read
National-Sports-Award-of-India

केंद्रीय खेल मंत्रालय ने कोरोना वायरस महामारी की वजह से इस बार राष्ट्रीय खेल पुरस्कारों के दावेदारों से नामांकन ई-मेल के जरिए मांगे हैं। आमतौर पर नामांकन भेजने की प्रक्रिया अप्रैल में ही शुरू हो जाती है, लेकिन इस बार लॉकडाउन की वजह से मई में आवेदन करने को कहा गया हैं। खेल मंत्रालय ने इसके लिए एक सर्कुलर जारी किया है। इसके मुताबिक, कोरोना वायरस महामारी के कारण पूरा देश लॉकडाउन है। ऐसे में खेल पुरस्कारों के दावेदार खिलाड़ी अपने नामांकन के दस्तावेज डाक के जरिए भेजने की बजाए संबंधित एसोसिएशन के अधिकारियों की सिफारिश से जुड़े दस्तावेज और आवेदन की स्कैन कॉपी ई-मेल के जरिए खेल मंत्रालय को भेजें।

पुरस्कारों के लिए 3 जून तक करा सकते हैं नामांकन

खेल मंत्रालय की जानकारी के अनुसार, ऑनलाइन नामांकन जमा कराने की आखिरी तारीख 3 जून तय की गई है। इसके बाद अगर कोई भी कोच और खिलाड़ी नामांकन भेजता है तो उसके नाम पर विचार नहीं किया जाएगा। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि हर साल 29 अगस्त को महान हॉकी खिलाड़ी मेजर ध्यानचंद की जयंती पर ‘राष्ट्रीय खेल दिवस’ मनाया जाता है। इस मौके पर राष्ट्रपति भवन में आयोजित सादे समारोह में ‘राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार’, ‘अर्जुन अवॉर्ड’, ‘द्रोणाचार्य अवॉर्ड’ और ‘ध्यानचंद पुरस्कार’ दिया जाता है।

जनवरी 2016 से दिसंबर 2019 तक के प्रदर्शन पर मिलेंगे अवॉर्ड

बता दें कि राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कर और अर्जुन अवॉर्ड से खिलाड़ियों को सम्मानित किया जाता है, जबकि द्रोणाचार्य पुरस्कार कोचिंग के क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ योगदान के लिए दिया जाता है। इसके अलावा ध्यानचंद पुरस्कार लाइफटाइम अचीवमेंट के लिए मिलता है। इस साल के अर्जुन अवॉर्ड और खेल रत्न के लिए जनवरी 2016 से दिसंबर 2019 तक के प्रदर्शन पर विचार किया जाएगा।

डिस्कस थ्रो एथलीट संदीप कुमारी डोप टेस्ट में विफल, वाडा ने लगाया चार साल का प्रतिबंध

गौरतलब है कि ‘खेल रत्न’ भारत का सर्वोच्च खेल पुरस्कार है। देश के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के नाम पर इसका नाम रखा गया है। हर साल देश के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ी को यह अवॉर्ड दिया जाता है। इस पुरस्कार के साथ खिलाड़ी को 7.5 लाख रुपए और एक प्रतिमा दी जाती है। वहीं, अर्जुन अवॉर्ड विजेता खिलाड़ी को पांच लाख रुपए पुरस्कार स्वरूप मिलते हैं।

COMMENT