दो दिन की देरी से केरल पहुंचा दक्षिण-पश्चिम मॉनसून, IMD ने इस बार सामान्य बारिश का जताया अनुमान

Views : 1486  |  3 minutes read
Monsoon-Reaches-Kerala

तेज गर्मी से परेशान हो रहे लोगों के लिए एक राहत भरी खबर है। भारत में मानसून ने दस्तक दे दी है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा कि दक्षिण-पश्चिम मॉनसून गुरुवार को केरल में पहुंच गया है। इसके साथ ही देश में चार महीने के बारिश के मौसम की शुरुआत हो गई है। वहीं, अगले दो दिनों में दक्षिण-पश्चिम मॉनसून के दक्षिण अरब सागर के शेष हिस्सों, केरल के बाकी हिस्सों और लक्षद्वीप के दक्षिण आंतरिक कर्नाटक, रायलसीमा और मध्य बंगाल की खाड़ी में आगे बढ़ने की संभावना है। तिरुवनंतपुरम में जारी मौसम बुलेटिन के मुताबिक, लक्षद्वीप के अधिकांश इलाकों और केरल के कुछ हिस्सों में बारिश हुई। आईएमडी के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने कहा कि ‘दक्षिण-पश्चिम मानसून ने केरल के दक्षिणी हिस्सों में शुरुआत कर दी है।’

पिछले छह वर्षों में तीसरी बार देरी से आया मानसून

आईएमडी के मुताबिक, केरल के ऊपर दक्षिण-पश्चिम मानसून की शुरुआत सामान्यत: एक जून को होती है लेकिन इस बार यह दो दिन की देरी से आया। मौसम विभाग ने बताया कि पिछले छह वर्षों में यह तीसरी बार है जब देश में मानसून देर से आया है। साल 2016 और 2019 में दक्षिण-पश्चिम मानसून ने केरल में आठ जून को दस्तक दी थी। बता दें कि अच्छा मानसून भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए बहुत अहम है, जो अब भी बहुत हद तक कृषि एवं संबंधित गतिविधियों पर आधारित है। मौसम विभाग ने कहा कि देश के ज्यादातर हिस्सों में बारिश के मौसम के दौरान सामान्य से लेकर सामान्य से ऊपर बारिश होने का अनुमान है।

उल्लेखनीय है कि पिछले साल मौसम विभाग ने देश के कई हिस्सों में मानसून के आने के अपने पूर्वानुमान की तारीखों में बदलाव किया था। भारत में मानसून के दस्तक देने की संशोधित तारीखों के मुताबिक, मुंबई में मानसून के आने की सामान्य तारीख 11 जून है, दिल्ली में 27 जून, चंडीगढ़ में 28 जून तथा बाड़मेर में पांच जुलाई है। बीकानेर और पोकरण में मानसून छह जुलाई को सामान्य रूप से पहुंचता है और तब तक यह पूरे देश में दस्तक दे चुका होता है।

देश के कई इलाकों में सामान्य से कम बारिश का अनुमान

आईएमडी ने हाल में मंगलवार को दक्षिण-पश्चिम मानसून 2021 को लेकर अपने दूसरे दीर्घकालिक पूर्वानुमान में कहा था, ‘दक्षिण-पश्चिम मानसून के उत्तर और दक्षिण भारत में सामान्य रहने की उम्मीद है और मध्य भारत में यह सामान्य से ज्यादा तथा पूर्व और पूर्वोत्तर भारत में यह सामान्य से कम रहेगा।’ हालांकि, मौसम विभाग ने कहा कि पूर्व और पूर्वोत्तर भारत जैसे बिहार के पूर्वी हिस्सों, पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्सों, असम, मेघालय, जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, हिमाचल प्रदेश, दक्षिण पश्चिम प्रायद्वीपीय भारत, केरल के कुछ हिस्से, तटीय कर्नाटक और महाराष्ट्र एवं तमिलनाडु के कुछ अंदरूनी इलाकों में सामान्य से कम बारिश का अनुमान है।

जुलाई या अगस्त की शुरुआत तक रोजाना एक करोड़ लोगों को कोरोना टीका लगेगा: केंद्र सरकार

COMMENT