साउथ सिनेमा के सुपरस्टार रजनीकांत को मिलेगा ‘दादा साहब फाल्के अवॉर्ड’, पीएम मोदी ने दी बधाई

Views : 1381  |  3 minutes read
Dadasaheb-Phalke-Award-2019

भारतीय फिल्मी दुनिया का सबसे बड़ा ‘दादा साहब फाल्के पुरस्कार’ का ऐलान हो गया है। इस बार साउथ इंडियन फिल्मों के सुपरस्टार रजनीकांत को यह अवॉर्ड मिलेगा। यह ‘दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड’ का 51वां संस्करण होगा। इस पुरस्कार के लिए ‘थलाइवा’ के नाम से मशहूर अभिनेता रजनीकांत के नाम की घोषणा केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने गुरुवार को अपनी एक ट्विटर पोस्ट के जरिए की। 71 साल के अभिनेता को 51वां दादा साहब फाल्के पुरस्कार 3 मई को दिया जाएगा। आपको बता दें कि कोरोना वायरस महामारी की वजह से इस साल दादा साहेब फाल्के पुरस्कारों का ऐलान देरी से हुआ है। इससे पहले बीते हफ्ते ही राष्ट्रीय पुरस्कारों की भी घोषणा हुई थी। दादा साहेब फाल्के भारतीय सिनेमा की दुनिया का सबसे प्रतिष्ठित सम्मान है।

भारतीय सिनेमा में रजनीकांत का अहम योगदान: जावड़ेकर

पुरस्कार के संबंध में जानकारी देते हुए केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने एक ट्वीट कर कहा – ‘भारतीय सिनेमा के इतिहास के सबसे महान अभिनेताओं में से एक के लिए दादा साहेब फाल्के पुरस्कार-2019 की घोषणा करने पर बहुत खुश हूं। अभिनेता, निर्माता और पटकथा लेखक के रूप में उनका (रजनीकांत) योगदान प्रतिष्ठित रहा है। मैं ज्यूरी आशा भोसले, सुभाष घई, मोहनलाल, शंकर और बिस्वास चटर्जी का शुक्रिया अदा करता हूं।’ इसके अलावा पीएम मोदी ने भी ट्वीट कर अभिनेता को बधाई दी है।

रजनीकांत का गरीब मराठा परिवार में हुआ था जन्म

आपको बता दें कि साउथ सुपरस्टार रजनीकांत का असली नाम शिवाजी राव गायकवाड़ है। उनका जन्म 12 दिसंबर, 1950 को कर्नाटक राज्य के बेंगलुरू में मराठी परिवार में हुआ था। गरीब परिवार में जन्मे रजनीकांत ने अपनी मेहनत और कड़े संघर्ष की बदौलत टॉलीवुड में ही नहीं, बॉलीवुड में भी काफी नाम कमाया। यहां तक कि साउथ में तो अभिनेता रजनीकांत को ‘थलाइवा’ और ‘भगवान’ कहा जाता है।

Actor-Rajinikanth

फिल्म ‘अपूर्वा रागनगाल’ से की थी शुरुआत

अभिनेता रजनीकांत ने अपने फिल्मी कॅरियर की शुरुआत 25 साल की उम्र में की। उनकी पहली तमिल फिल्म ‘अपूर्वा रागनगाल’ थी। इस फिल्म में उनके साथ कमल हासन और श्रीविद्या भी थीं। वर्ष 1975 से 1977 के बीच उन्होंने ज्यादातर फिल्मों में कमल हासन के साथ विलेन की भूमिका ही की। बतौर लीड एक्टर उनकी पहली तमिल फिल्म 1978 में ‘भैरवी’ आई। ये फिल्म काफी हिट रही और रजनीकांत स्टार बन गए।

रजनीकांत कई पीढ़ियों तक लोकप्रिय रहे हैं: पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड के लिए अभिनेता रजनीकांत के नाम का ऐलान होने के बाद इस उपलब्धि के​ लिए उन्हें बधाई दी है। पीएम मोदी ने अपने ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट किया जिसमें उन्होंने लिखा, ‘कई पीढ़ियों तक लोकप्रिय रहे, एक ऐसे शख्स जो कई तरह की भूमिकाएं निभा सकते हैं और लोकप्रिय हैं… वो शख्स रजनीकांत आपके लिए। यह बेहद खुशी की बात है कि ‘थलाइवा’ को दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। उन्हें बधाई।’

Read: कंगना रनौत को चौथी बार नेशनल फिल्म अवॉर्ड, मनोज बाजपेयी और धनुष बेस्ट एक्टर

COMMENT