बीसीसीआई चीफ सौरव गांगुली ने बताया.. ऋषभ पंत को धोनी बनने में कितने साल लगेंगे

Views : 1567  |  0 minutes read
Sourav-Ganguly-BCCI

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली के बाद अब बीसीसीआई अध्यक्ष और पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत का बचाव किया है। गांगुली ने एक मीडिया समूह के कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि लोग पंत की धोनी से तुलना करते हैं, लेकिन उन्हें अपनी आलोचनाओं से सीखना चाहिए। फिर चाहें मैदान पर उन्हें देखकर लोग धोनी-धोनी ही क्यों न चिल्लाते हों। महेन्द्र सिंह धोनी ने जो मुकाम हासिल किया है, उसे पाने में पंत को कम से कम 15 साल लगेंगे। उन्होंने आगे कहा कि यह पंत के लिए अच्छा है, उन्हें इसकी जल्द से आदत डाल लेनी चाहिए। निश्चित ही वह यानि पंत दबाव में होंगे लेकिन उन्हें यह लड़ाई खुद ही लड़नी पड़ेगी।

कप्तान कोहली को पंत के टैलेंट पर विश्वास

सौरव गांगुली से पहले गुरुवार को टीम इंडिया के कैप्टन विराट कोहली ने कहा था, ‘हमें ऋषभ पंत की काबिलियत पर पूरा भरोसा है, लेकिन यह सबकी जिम्मेदारी है कि उसे बेहतर करने के लिए थोड़ा और मौका दिया जाए। अगर वह मैदान पर छोटी गलतियां भी करता है तो लोग स्टेडियम में धोनी-धोनी चिल्लाने लगते हैं। कोहली ने कहा कि यह सम्मानजनक नहीं है और कोई भी प्लेयर कभी ऐसा नहीं चाहता है। आगे पंत खुद को साबित करने का कोई मौका नहीं छोड़ना चाहेंगे।

कप्तान विराट कोहली ने आगे कहा, हाल में रोहित शर्मा ने भी कहा था कि इस विकेटकीपर-बल्लेबाज को अकेला छोड़ देना चाहिए। वह मैच विजेता खिलाड़ी है। एक बार जब वह फॉर्म में होता है, तो उसका खेल देखने लायक होता है। हम आईपीएल में भी कई बार देख चुके हैं, जहां वह फ्री और रिलेक्स होकर अपना नेचुरल गेम खेलता है। वहां उसे यानि पंत को उसकी काबिलियत के हिसाब से सम्मान भी मिलता है।’

हैदराबाद एनकाउंटर: जानिए कौन हैं पुलिस टीम को लीड करने वाले आईपीएस वीसी सज्जनार?

पिछले एक साल में कुछ खास नहीं रहा पंत का प्रदर्शन

युवा विकेटकीपर-बल्लेबाज ऋषभ पंत का पिछले एक साल में कुछ खास प्रदर्शन नहीं रहा है। वे इस दौरान 13 टी-20 इंटरनेशनल मुकाबले खेले और मात्र 201 रन अपने खाते में जोड़े हैं। हाल ही में बांग्लादेश के खिलाफ तीन मैचों की टी-20 सीरीज में भी पंत केवल 33 रन ही बना सके थे। उनकी खराब फॉर्म को देखते हुए ही वेस्टइंडीज के खिलाफ टी-20 सीरीज के लिए उन्हें टीम से बाहर कर दिया गया। ऋषभ पंत की जगह संजू सैमसन को विकेटकीपर-बल्लेबाज के तौर पर टीम इंडिया में शामिल किया गया।

 

COMMENT