एसबीआई का नया नियम आज से हुआ लागू, अब एटीएम से पैसा निकालने से पहले करना होगा ये काम

Views : 697  |  3 minutes read
SBI-Withdraw-Money-Rules

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के दौरान देश में बैंकिंग फ्रॉड के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी देखने को मिली हैं। हालांकि, भारतीय रिजर्व बैंक यानि आरबीआई ने इसके लिए कड़े नियम बना रखे हैं, बावजूद इसके बैंकिंग में धोखाधड़ी हो रही है। जालसाजी के काम में शामिल शातिर लोग आम आदमी के साथ फ्रॉड करने का कोई न कोई तरीका ढूंढ ही लेते हैं। भारत में लगातार बढ़ते फ्रॉड के मामलों को ध्यान में रखते हुए देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने ग्राहकों को राहत देते हुए बचाव के लिए एक नई सुविधा दी है। एसबीआई ने सुरक्षित बैंकिंग उपलब्ध कराने के लिए आज से नई एटीएम सर्विस शुरू की है।

ओटीपी सुविधा 24 घंटे लागू करने का फैसला किया

एसबीआई ने वन टाइम पासवर्ड यानि ओटीपी आधारित एटीएम कैश विड्रॉल सुविधा को अब से 24 घंटे लागू करने का फैसला किया है। 18 सितंबर से यह नियम देशभर में लागू कर दिया गया है। आपको बता दें कि पहले यह सुविधा रात में आठ बजे से सुबह आठ बजे तक उपलब्ध थी। अब नकदी निकासी के लिए बैंक ग्राहक द्वारा रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर ओटीपी भेजेगा, जिसके जरिए पैसों की निकासी होगी। अब एसबीआई के एटीएम से 10,000 रुपए या इससे ज्यादा राशि निकालने पर बैंक के ग्राहक को दिन में भी ओटीपी की जरूरत होगी। गौरतलब है कि 1 जनवरी 2020 से एसबीआई ने एटीएम से निकासी के लिए ओटीपी जरूरी किया था। भारतीय स्टेट बैंक ने कहा है कि ग्राहक अपना मोबाइल नंबर अपडेट करा लें।

Read: ईडी ने फेमा का उल्लंघन करने पर स्टैंडर्ड चार्टर्ड बैंक पर लगाया 100 करोड़ का जुर्माना

भारतीय स्टेट बैंक के ग्राहक ऐसे करेंगे पैसों की निकासी

एसबीआई के ग्राहक नई प्रक्रिया के तहत जब एटीएम से पैसों की निकासी कर रहे होंगे, तब एटीएम की स्क्रीन पर रकम के साथ-साथ ओटीपी स्क्रीन भी दिखाई देगी। बैंक ग्राहकों को ओटीपी उनके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भेजा जाएगा। इससे धोखाधड़ी की संभावनाएं काफी हद तक कम हो जाएंगी। फिलहाल यह ओटीपी आधारित नकद निकासी की सुविधा केवल एसबीआई एटीएम में ही उपलब्ध होगी।

COMMENT