भारत में कोरोना वायरस की दवा बनाने के लिए इस कंपनी को मिला लाइसेंस

Views : 1432  |  3 minutes read
Corona-Medicine-Licence-India

भारत में कोरोना वायरस की दवा बनाने के लिए एक कंपनी को लाइसेंस मिल गया है। स्विस फर्म रोशे डायग्नोस्टिक्स इंडिया को दवा नियामक डीसीजीआई से संक्रमण जांच की मंजूरी मिल गई है। इसी के साथ ही यह संक्रमण की जांच करने वाली देश की पहली निजी फर्म बन गई है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि केंद्र सरकार ने हाल ही में निजी डायग्नोस्टिक केंद्रों को भी जांच करने की अनुमति देने की बात कही थी।

Corona-Medicine-Licence-India

बायोम्रीक्स को भी मिल सकता है लाइसेंस

विभाग से जुड़े एक सीनियर अफसर के अनुसार, भारत का औषधि महानियंत्रक यानी डीसीजीआई फिलहाल एक अन्य निजी डायग्नोस्टिक फर्म ‘बायोम्रीक्स’ को भी लाइसेंस देने पर विचार कर रहा है। जानकारी के मुताबिक इस फर्म ने कोरोना वायरस संक्रमण की जांच करने की अनुमति मांगी है। इस फर्म को मंजूरी मिलने में 7 दिन लग सकते हैं। एक बार अनुमोदित होने के बाद ये दोनों निजी फर्म कोरोना वायरस कोविड-19 की पुष्टि करने वाले परीक्षण कर सकेगी।

Read More: आपकी कार या बाइक में भी हो सकता है कोरोना, इस तरह रहें सुरक्षित

2 भारतीय कंपनियों ने जांच किट की मंजूरी मांगी

विभाग के अधिकारी ने बताया कि दो भारतीय डायग्नोस्टिक कंपनियों त्रिवित्रोन हेल्थकेयर और माय लैब डिस्कवरी सॉल्यूशंस ने डीसीजीआई से उनके द्वारा विकसित कोरोना वायरस संक्रमण जांच किट को अतिशीघ्र मंजूरी देने का अनुरोध किया है। बता दें कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने खतरनाक वायरस कोविड-19 की जांच के इच्छुक निजी क्षेत्र के डायग्नोस्टिक केंद्रों के लिए मंगलवार को दिशा-निर्देश जारी किए। स्वास्थ्य मंत्रालय ने डायग्नोस्टिक केंद्रों से यह जांच मुफ्त करने का अनुरोध किया है।

COMMENT