पुण्यतिथि: आर डी बर्मन ने अमेरिकी बैंड के लिए दिया था ऐसा म्यूजिक, शायद ही आपने सुना होगा

Views : 5409  |  4 minutes read

4 जनवरी के दिन साल 1994 में हमारे देश के महान संगीतकार आर डी बर्मन इस दुनिया को अलविदा कहकर चले गए, लेकिन इस सैल्यूलॉइड के सितारे ने संगीत की अपनी ऐसी जायदाद हमें सौंप दी, जो बरसों तक हमारे कानों में गूंजती रहेगी। बारिश की बूंदो से लेकर घर में रखे गिलास तक से म्यूजिक कंपोज़ कर लेने वाले आर डी बर्मन यानी राहुल देव बर्मन ने ना केवल भारतीय म्यूजिक इंडस्ट्री बल्कि विदेशों में भी अपने पंख फैलाए थे, जिसका एक बड़ा मशहूर किस्सा आपको बताते हैं पहले उनका ये इंग्लिश सॉन्ग सुन लीजिए।

अमेरिका में किया था एक एलबम लॉन्च

तो हुआ यूं था कि जो आपने अभी अभी ये गाना सुना इसके सारा म्यूजिक कंपोजिशन हमारे पंचम दा ने दिया है। आर डी बर्मन ने ‘पंटेरा’ नाम से अमेरिका में एक एलबम लॉन्च किया, जिसको वहां ज्यादा लोकप्रियता नहीं मिली। उनका एक दोस्त था वहां पेटे गवनकर नाम का जो वहीं सैट्ल्ड था। उसने ही पंचम दा से कुछ स्थानीय संगीतकारों को मिलवाया और फिर पंचम दा ने फोड़ दिया ‘बम’ एलबम।

अमेरिका में ये एलबम कुछ खास नाम नहीं कर पाया जिससे आर डी बर्मन को बड़ा दुख हुआ। उन्होंने पहली बार लैटिन अमेरिकी म्यूजिक दिया था मगर ये म्यूजिक उनके काम हिंदी सिनेमा में आ गया, जहां 1993 में प्रियदर्शन की मूवी ‘गर्दिश’ का गाना ‘रंग रंगीली रात’ इसी से इंस्पायर्ड था।

इंग्लिश गाना लिख उसे ‘दीवार’ में ऐसे किया इस्तेमाल

पंचम दा ने एक इंग्लिश गाना भी लिखा था.. नाम था ‘आई एम फॉलिंग इन लव विद अ स्ट्रेंजर’। यह गाना अमिताभ की फिल्म ‘दीवार’ के एक सीन में बैकग्राउंड म्यूजिक के तौर पर यूज किया गया, जब अमिताभ बच्चन और परवीन बॉबी एक बार में पहली बार मिलते हैं।

आर डी बर्मन धुन कभी नहीं चुराई

पंचम दा वेस्टर्न म्यूजिक से काफी इंस्पायर्ड थे, मगर कभी किसी गाने की धुन नहीं चुराई। लैटिन अमेरिकी सिंगर लुई आर्म्सस्ट्रांग को अपना गुरू मानते थे। उनकी आवाज से प्रेरणा लेकर ‘शोले’ फिल्म का ‘महबूबा महबूबा’ गा डाला और जैसा की आप जानते ही है, आज भी वो गाना अलग सा ही सुनाई पड़ता है।

मैं वेस्टर्न म्यूजिक नही जानता, बस उसकी आत्मा को महसूस कर लेता हूं

पंचम दा कहते थे कि मैंने भारतीय संगीत की शिक्षा ली है और मैं वेस्टर्न म्यूजिक के बारे में नही जानता बस उसे सुनकर उसकी आत्मा को महसूस कर लेता हूं, फिर उसे अपने संगीत में मिलाकर कुछ नया बना लेता हूं। जैसा कि आजकल के म्यूजिक डायरेक्टर बड़े आराम से किसी भी विदेशी सॉन्ग की कॉपी कर उसे इंस्पिरेशन बोलकर चुरा लेते हैं, पंचम दा ने कभी ऐसा कोई काम नहीं किया। वैसे जो शख्स रात भर बारिश की बूंदो की आवाज को रिकॉर्ड करने के लिए अपनी बालकनी में खड़ा रह सकता है, वो म्यूजिक चुराने की कैसे सोच सकता है।

Read More: चुटकियों में हिट गानों की धुन बनाने वाले संगीतकार थे ‘पंचम दा’

आर डी बर्मन ने ‘चुरा लिया है तुमने जो दिल को’ का गिलास वाली धुन घर बैठे ही बनाई थी और करीब तीन चार गिलास में अलग-अलग स्तर पर पानी डाला था, जिसे उन्होंने चम्मच द्वारा शानदार म्यूजिक निकाला।

 

COMMENT